'जिफ 2021' का ऑनलाइन आगाज 15 जनवरी से, 44 देशों की 266 फ़िल्में

 - ब्यूरो रिपोर्ट -

जयपुर। तकनीकी विकास ने सिनेमा को डिजिटल मुकाम तक पहुंचाया तो विश्वव्यापी कोविड-19 महामारी ने सिनेमा को थियेटर से बाहर निकाल कर ओवर द टॉप(ओटीटी)  के हवाले कर दिया है। मतलब घर पर सिनेमा देखने का एक डिजिटल अंदाज। इस अंदाज का मजा बहुप्रतीक्षित, चर्चित और दुनिया के सबसे बड़े कॉम्पिटिटिव जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल-जिफ- के 13वें एडिशन के दौरान लिया जा सकेगा। फेस्टिवल का आयोजन 15 -19 जनवरी तक ऑनलाइन होगा।

जिफ आयोजन समिति ने यूएफओ के प्लेक्सिगो के साथ मिलकर निर्णय लिया है कि कोविड के इस माहौल में जिफ में दुनिया भर से चयनित फिल्मों को बिना किसी शुल्क के फिल्म प्रेमियों को देखने का मौक़ा दिया जाना चाहिए। इस समारोह के दौरान जिफ 2021 की सभी फ़िल्में निशुल्क देखी जा सकती हैं। इसके लिए जिफ और प्लेक्सिगो की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन खुला है। फ़िल्में देखने के लिए रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है। 



गौरतलब है कि इस बार जिफ में 85 से ज्यादा देशों की 2100 से ज्यादा फ़िल्में प्राप्त हुई थी जिनमें से 44 देशों की 266 फ़िल्में प्रतियोगिता श्रेणी में फेस्टीवल में ऑनलाइन दिखाई जा रही है। फिल्म स्क्रीनिंग कार्यक्रम जिफ की वेबसाइट (http://jiffindia.org/) पर जारी कर दिया गया है। सभी फ़िल्में यूएफओ के प्लेक्सिगो पर दिखाई जायेगी। प्लेक्सिगो एप गूगल प्ले स्टोर या एप्पल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। प्लेक्सिगो, जिफ 2021 का एक्सक्लूजिव ऑनलाइन स्क्रीनर पार्टनर है।

जिफ प्रवक्ता राजेन्द्र बोड़ा ने बताया कि प्रतियोगिता के लिए 9 श्रेणियों में चयनित फिल्मों में 53 फीचर फिक्शन फिल्म, 17 डॉक्यूमेंट्री फीचर फिल्म, 123 शॉर्ट फिक्शन फिल्म, 30 शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री फिल्म, 14 शॉर्ट एनिमेशन फिल्म, 18 मोबाइल फिल्म, 5 वेब सीरीज़, 4 सॉन्ग शामिल और 2 एड फ़िल्में हैं। फेस्टिवल में विश्व भर के फिल्म पुरस्कार जीत चुके प्रतिष्ठित फ़िल्मकारों की फिल्मों का चयन भी हुआ है जिनका भी फेस्टिवल के दौरान ऑनलाइन प्रदर्शन होगा। चयनित फीचर फिल्मों में से कुछ इस प्रकार हैं:- भारत से पोरीचोय, तितली, अटकन चटकन तथा चयना से विंड, चेक रिपब्लिक से दारिया, फ्रांस से द सॉन्ग ऑफ़ द सी, रशिया से हैप्पी बर्थडे, फ्रांस से वेगाबॉन्डस, यूके से अमररेलिस, अर्जेंटीना और ब्राजील से द साइलेंट पार्टी, अमेरिका से टैंगो शलोम, कनाडा से वी और श्रीलंका से द  सिंगल टम्बलर शामिल है।

अटकन चटकन फिल्म का प्रदर्शन ख़ास रहेगा, चूंकि यह बच्चों के लिए बनाया गया एक हिन्दी म्यूज़िकल ड्रामा है, जिसमें पद्म भूषण ए. आर. रहमान ने संगीत दिया है। लगभग 2 घंटे की इस फीचर फिक्शन फिल्म को शिव हरे ने डायरेक्ट किया है। ए. आर. रहमान ही इस फिल्म के प्रजेंटर हैं।

ब्राज़ील की फीचर फिक्शन फिल्म द साइलेंट पार्टी एक स्पैनिश फिल्म है, जिसके निर्देशक हैं डिएगो फ्राइड। 87 मिनट की यह फिल्म लॉरा की कहानी है, जो अपनी शादी से कुछ घंटों पहले कुछ अजीबोगरीब पार्टी में शामिल होती है, जो रातों रात उसकी ज़िंदगी को बदल कर रख देती है। फिल्म समीक्षकों ने इसे 2020 में अर्जेंटीना में बनी बेस्ट फिल्मों में एक माना है।

15 से 19 जनवरी तक फिल्मों के ऑनलाइन प्रदर्शन के बाद मार्च के आख़िरी सप्ताह या अप्रेल में अवार्ड सेरेमनी का आयोजन प्रस्तावित है। समारोह के आखिरी दिन 19 जनवरी को विजेता फिल्मों की घोषणा जिफ की वेबसाइट पर की जाएगी।

 

Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!