Posts

जयपुर की कंपनी सीत कमल के मैनेजिंग डायरेक्टर गौतम नाथानी दो एक्सपोर्ट अवार्ड से सम्मानित

Image
-ब्यूरो रिपोर्ट- नई दिल्ली। हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद (ईपीसीएच) ने 23वें हस्तशिल्प निर्यात पुरस्कार समारोह का आयोजन अशोका होटल दिल्ली में किया। इस बहुप्रतीक्षित समारोह में वर्ष 2017-18 और 2018-19 के दौरान निर्यातकों को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया गया। इस आयोजन में ईपीसीएच के अध्यक्ष राज.के.मल्होत्रा के साथ ही देश के कोने कोने से हस्तशिल्प निर्यातकों ने बड़ी संख्या में शिरकत की। इस मौके पर ईपीसीएच के उपाध्यक्ष–कमल सोनी, ईपीसीएच के महानिदेशक और अध्यक्ष, इंडिया एक्सपोज़िशन मार्ट लिमिटेड राकेश कुमार, और ईपीसीएच की प्रशासन समिति के सदस्य ने भी आयोजन में भागीदारी की। हस्तशिल्प निर्यात पुरस्कार समारोह में पेपर प्रोडक्ट के लिए जयपुर के सीत कमल के मैनेजिंग डायरेक्टर गौतम नाथानी को 2017-18, 2019 के लिए दो एक्सपोर्ट अवार्ड से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग, उपभोक्ता मामलों, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण और वस्त्र पीयूष गोयल, विशिष्ट अतिथि केंद्रीय कपड़ा मंत्री एवं रेल राज्यमंत्री दर्शना विक्रम जरदोश ने हस्तशिल्प निर्यात पुरस्कार प्रदा

अदाकारा सुष्मिता मुखर्जी के कहानी-संग्रह ‘बांझ’ का हिन्दी अनुवाद रिलीज

Image
-ब्यूरो रिपोर्ट- नई दिल्ली। अदाकारा सुष्मिता मुखर्जी के कहानी-संग्रह ‘बांझ’ का हिन्दी अनुवाद हाल ही रिलीज हुआ। सुष्मिता के पहले अंग्रेजी उपन्यास ‘मी एंड जूही बेबी’ के बाद 2021 में ‘बांझ’ प्रकाशित हुआ था। वरिष्ठ फिल्म समीक्षक व पत्रकार दीपक दुआ ने ‘बांझ’ का हिन्दी में अनुवाद किया है। सुष्मिता अपनी इस किताब के बारे में कहती हैं, ‘मेरी यह किताब ‘बांझ’ असल में 11 लघु कहानियों का संग्रह है जिसमें से एक कहानी का नाम ‘बांझ’ है। लिखने का शौक तो मुझे हमेशा से ही रहा है लेकिन एक्टिंग और दूसरे कामों में व्यस्त रहने के चलते नियमित रूप से लिखना नहीं हो पाता था। इनमें से जो पहली कहानी है वह शायद मैंने 40 साल पहले लिखी होगी और जब-जब मेरे जेहन में कहानियां आती गईं, मैं उन्हें लिख कर रखती चली गई। अब जाकर मुझे यह लगा कि मुझे इनका एक कलैक्शन लाना चाहिए।’ इन कहानियों में किस तरह की बातें हैं? पूछने पर सुष्मिता कहती हैं, ‘इन कहानियों के जरिए मैंने स्त्री-मन की बात सामने लाने की कोशिश की है। लगभग सभी कहानियां स्त्री केंद्रित हैं और इनके जरिए मैं यह कहने की कोशिश कर रही हूं कि औरतों के बारे में हमारी सो

हिंदी सिनेमा के पहले एनसायक्लोपीडिया का विमोचन

Image
-ब्यूरो रिपोर्ट- जयपुर। मुंबई में आयोजित एक समारोह में पिछले हफ्ते हिंदी सिनेमा के पहले एनसायक्लोपीडिया का विमोचन किया गया। इस एनसायक्लोपीडिया का संपादन यषस्वी पत्रकार-लेखक श्रीराम ताम्रकर ने किया है, हालांकि एनसायक्लोपीडिया के प्रकाशित होने से पहले ही वे इस दुनिया को अलविदा कह चुके हैं। ‘हिंदी सिनेमा-एनसायक्लोपीडिया’ को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र, नई दिल्ली ने प्रकाशित किया है। मुंबई यूनिवर्सिटी, संस्कार भारती और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र की ओर से मुंबई में आयोजित कार्यक्रम ‘सिने टॉकीज’ में केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल, फिल्म अभिनेत्री आशा पारेख, फिल्म अभिनेता और निर्देशक चंद्रप्रकाश द्विवेदी ने एनसायक्लोपीडिया का विमोचन किया। इस मौके पर बाहुबली, आरआरआर, बजरंगी भाईजान के लेखक के वी विजयेन्द्र प्रसाद सहित हिंदी और मराठी फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोग, साहित्यकार और विभिन्न प्रदेशों से आए विद्यार्थी मौजूद थे। ‘हिंदी सिनेमा-एनसायक्लोपीडिया’ में हिंदी सिनेमा के 1300 से ज्यादा कलाकारों, संगीतकारों, निर्देशकों का परिचय है। साथ ही भारत में संचालित हो रहे फिल्म संस्थानो

‘कम्युनिकेशन टुडे’ की स्वर्ण जयंती वेबिनार में इस बार ‘खबर लहरिया’ पर चर्चा

Image
- ब्यूरो रिपोर्ट- जयपुर। प्रतिष्ठित मीडिया जर्नल ‘ कम्युनिकेशन टुडे ’ की ऑनलाइन वेबिनार की सीरीज में इस बार ‘ खबर लहरिया ’ पर चर्चा की जाएगी। 13 मई को दोपहर बाद साढ़े 4 बजे गूगल मीट प्लेटफॉर्म पर आयोजित होने वाली इस वेबिनार में ‘ सामुदायिक पत्रकारिता का अभिनव प्रयोग-खबर लहरिया ’ विषय पर विचार-विमर्श किया जाएगा। ‘ खबर लहरिया ’ दुनिया का एकमात्र ऐसा न्यूज नेटवर्क है , जिसे सिर्फ महिलाएं संचालित करती हैं। यह महिलाएं दलित , मुस्लिम आदिवासी और पिछड़ी माने जाने वाली जातियों से हैं। समूह में कोई आदिवासी तो कोई दलित है , लेकिन सभी महिलाएं एकजुट होकर पत्रकारिता करती हैं। अधिकतर महिलाओं के पास ज्यादा डिग्री या पढ़ा-लिखा होने के सर्टिफिकेट भी नहीं हैं। वे समाज के अनछुए मुद्दे , सरकार के वादे , भ्रष्टाचार , महिलाओं के खिलाफ हिंसा , दलित-आदिवासियों से संबंधित विषय और गरीबों व महिलाओं से जुड़ी समस्याओं को उठाती है। साल 2002 में चित्रकूट में अखबार के तौर पर शुरू हुआ ‘ खबर लहरिया ’ अब पूरी तरह से डिजिटल फॉर्मेट में है।  स्थानीय भाषाओं में शुरू किया गया यह सफर आज अंग्रेजी भाषा में भी खबरें उपलब्ध कर

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिये मनोरंजन उद्योग में आए बदलावों पर चर्चा के लिए वेबिनार 19 को

Image
-ब्यूरो रिपोर्ट- 19 फरवरी को शाम 4 बजे होने वाले इस वेबिनार से जुड़ने के लिए रजिस्ट्रेशन संबंधी लिंक- https://forms.gle/Ah8ADfYWx5pH5M6BA यहां दिए गए लिंक पर क्लिक करके इस आयोजन से सीधा जुड़ा जा सकता है - https://meet.google.com/dqg- txih-hng जयपुर। इंटरनेट ने हमारी जिंदगी को किस हद तक बदल दिया है, इस बारे में शायद अब नए सिरे से बताने की जरूरत नहीं है। इंटरनेट के विस्फोट के इस दौर में नया मीडिया भी हमारे लिए एक नई दुनिया का निर्माण कर रहा है और हमारे रोजमर्रा के जीवन को बदल रहा है। इंटरनेट ने सिनेमा और टेलीविजन इंडस्ट्री को भी बहुत तेजी से बदल दिया है। नई टैक्नोलॉजी और नए प्लेटफॉर्म के सहारे दर्शक अपने निजी गैजेट्स पर फिल्मों और वेबसीरीज का आनंद ले रहे हैं। मनोरंजन की इस तेजी से बदलती दुनिया पर गहन-गंभीर चर्चा करने के लिए मीडिया जर्नल ‘कम्युनिकेशन टुडे’ की ओर से एक खास वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है। ‘कम्युनिकेशन टुडे’ के संपादक डॉ. संजीव भानावत ने बताया कि ‘भविष्य का मनोरंजन-ओटीटी’ विषयक इस वेबिनार में मीडिया से जुड़े विशेषज्ञ ओवर द टॉप (ओटीटी) कंटेंट से संबंधित रुझानों पर चर्चा करेंगे

लता की स्मृति में ‘लता गुणगान सभा’ का आयोजन

Image
-ब्यूरो रिपोर्ट- मुंबई। लता दीनानाथ मंगेशकर ग्रामोफोन रिकॉर्ड संग्रहालय , इंदौर की ओर से मुंबई के कालबादेवी क्षेत्र के होटल आदर्श अन्नपूर्णा परिसर में ‘ लता गुणगान सभा ’ का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में फिल्म गीत-संगीत के क्षेत्र में लता मंगेशकर के योगदान की चर्चा करते हुए लता दीनानाथ मंगेशकर ग्रामोफोन रिकॉर्ड संग्रहालय के संस्थापक सुमन चौरसिया ने कहा कि बसंत पंचमी को मां सरस्वती ने अपनी मधुर वीणा से बजने वाले सुरों को स्वर देने के लिए हमारी प्रिय लता दीदी को अपने पास बुला लिया। लेकिन लता अपनी आवाज के सहारे हमेशा हमारे साथ रहेंगी। लता दीनानाथ मंगेशकर ग्रामोफोन रिकॉर्ड संग्रहालय के लिए 51 , 000 रुपए की अनुदान राशि  प्रदान करते हुए जगदीश पुरोहित इस कार्यक्रम में लता मंगेशकर पर लिखी गई पुस्तक ‘ लता समग्र ’ की जानकारी भी साझा की गई। कार्यक्रम के संयोजक फिल्मसॉन्गस डॉट कॉम  (FilmsSongs.com)  के जगदीश पुरोहित ने लता मंगेशकर पर डाक टिकट जारी करने के सरकार के फैसले का स्वागत किया। उन्होंने सरकार से अपील की कि डाक टिकट की कीमत इतनी ही रखी जाए कि उसे लता का हर प्रशंसक आसानी से संजो सके।

केरल का समाचार चैनल मीडिया वन टीवी हुआ बंद

Image
- ब्यूरो रिपोर्ट- नई दिल्ली। केरल के समाचार चैनल मीडिया वन टीवी को उसका प्रसारण रोके जाने के खिलाफ हाई कोर्ट ने कोई राहत नहीं दी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए चैनल को दोबारा लाइसेंस जारी करने की इजाजत नहीं दी थी। गृह मंत्रालय के कहने पर सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने मीडिया वन पर प्रतिबंध लगा दिया था , जिसे चैनल ने केरल हाई कोर्ट में चुनौती दी थी। लेकिन अदालत ने चैनल को कोई भी राहत देने से मना कर दिया है। अदालत ने कहा है कि चैनल के लाइसेंस को आगे बढ़ाने की अनुमति न दिए जाने के लिए पर्याप्त कारण हैं। हालांकि सरकार ने इन कारणों के बारे में विस्तृत जानकारी सार्वजनिक नहीं की है। अदालत में सरकार ने दलील थी कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मामलों में नैसर्गिक न्याय की दलील नहीं दी जा सकती है। अदालत ने भी इस पर सहमति व्यक्त की है। बल्कि न्यायमूर्ति एन नागरेश ने अपने फैसले में प्राचीन ग्रन्थ ‘ अत्रि संहिता ’ का जिक्र करते हुए कहा कि संहिता में भी यही लिखा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सरकार का सबसे जरूरी दायित्व होता है। इस पूरे मामले के केंद्र में भी सवाल यही है कि राष्ट्र