हिंदी सिनेमा के पहले एनसायक्लोपीडिया का विमोचन

-ब्यूरो रिपोर्ट- जयपुर। मुंबई में आयोजित एक समारोह में पिछले हफ्ते हिंदी सिनेमा के पहले एनसायक्लोपीडिया का विमोचन किया गया। इस एनसायक्लोपीडिया का संपादन यषस्वी पत्रकार-लेखक श्रीराम ताम्रकर ने किया है, हालांकि एनसायक्लोपीडिया के प्रकाशित होने से पहले ही वे इस दुनिया को अलविदा कह चुके हैं। ‘हिंदी सिनेमा-एनसायक्लोपीडिया’ को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र, नई दिल्ली ने प्रकाशित किया है। मुंबई यूनिवर्सिटी, संस्कार भारती और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र की ओर से मुंबई में आयोजित कार्यक्रम ‘सिने टॉकीज’ में केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल, फिल्म अभिनेत्री आशा पारेख, फिल्म अभिनेता और निर्देशक चंद्रप्रकाश द्विवेदी ने एनसायक्लोपीडिया का विमोचन किया। इस मौके पर बाहुबली, आरआरआर, बजरंगी भाईजान के लेखक के वी विजयेन्द्र प्रसाद सहित हिंदी और मराठी फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोग, साहित्यकार और विभिन्न प्रदेशों से आए विद्यार्थी मौजूद थे।
‘हिंदी सिनेमा-एनसायक्लोपीडिया’ में हिंदी सिनेमा के 1300 से ज्यादा कलाकारों, संगीतकारों, निर्देशकों का परिचय है। साथ ही भारत में संचालित हो रहे फिल्म संस्थानों के गठन एवं गतिविधियों का संक्षिप्त परिचय, राष्ट्रीय पुस्कार प्रात फिल्मों की सूची, ऑस्कर अवॉर्ड के लिए भारतीय फिल्म प्रविष्टियां, इंडियन पेनोरमा की फिल्में, 1827 से 2018 तक की टाइमलाइन, पद्मअलंकार, सिनेमा विधा से जुड़ी जानकारियों को स्थान दिया गया है। हिंदी में इस तरह की जानकारियों को जुटाने का यह विश्व में शायद पहला और अनोखा प्रयास है।
‘हिंदी सिनेमा-एनसायक्लोपीडिया’ के संपादक श्रीराम ताम्रकर ने वर्षों तक फिल्म पत्रकारिता की और देवी अहिल्या विश्वविद्यालय में भी सिनेमा को विषय के रूप में पढ़ाया। उनके अनेक आलेख, इंटरव्यू, फिल्म समीक्षा देश के कई पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हुए। एनसायक्लोपीडिया के रूप में उन्होंने एक ऐसे विषद ग्रंथ की परिकल्पना की थी, जिसमें हिंदी सिनेमा से संबंधित सभी प्रमुख जानकारियां समाहित हों। हालांकि यह पुस्तक उनके जीते जी जारी नहीं हो पाई, लेकिन वे ऐसा संदर्भ ग्रंथ दे गए हैं जो आने वाले समय में सिनेमा के विद्यार्थियों, शोधार्थियों, लेखकों के काम आता रहेगा। इस एनसायक्लोपीडिया को तैयार करने में जिन लोगों का योगदान रहा है, उनमें विनोद तिवारी, डॉ. राजीव श्रीवास्तव और श्याम माथुर के नाम प्रमुख हैं।

Popular posts from this blog

‘कम्युनिकेशन टुडे’ की स्वर्ण जयंती वेबिनार में इस बार ‘खबर लहरिया’ पर चर्चा

ऑडियो-वीडियो लेखन पर हिंदी का पहला निशुल्क पाठ्यक्रम 28 जनवरी से होगा शुरू

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिये मनोरंजन उद्योग में आए बदलावों पर चर्चा के लिए वेबिनार 19 को