ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिये मनोरंजन उद्योग में आए बदलावों पर चर्चा के लिए वेबिनार 19 को

-ब्यूरो रिपोर्ट-


19 फरवरी को शाम 4 बजे होने वाले इस वेबिनार से जुड़ने के लिए रजिस्ट्रेशन संबंधी लिंक-

https://forms.gle/Ah8ADfYWx5pH5M6BA

यहां दिए गए लिंक पर क्लिक करके इस आयोजन से सीधा जुड़ा जा सकता है -

https://meet.google.com/dqg-txih-hng



जयपुर। इंटरनेट ने हमारी जिंदगी को किस हद तक बदल दिया है, इस बारे में शायद अब नए सिरे से बताने की जरूरत नहीं है। इंटरनेट के विस्फोट के इस दौर में नया मीडिया भी हमारे लिए एक नई दुनिया का निर्माण कर रहा है और हमारे रोजमर्रा के जीवन को बदल रहा है। इंटरनेट ने सिनेमा और टेलीविजन इंडस्ट्री को भी बहुत तेजी से बदल दिया है। नई टैक्नोलॉजी और नए प्लेटफॉर्म के सहारे दर्शक अपने निजी गैजेट्स पर फिल्मों और वेबसीरीज का आनंद ले रहे हैं। मनोरंजन की इस तेजी से बदलती दुनिया पर गहन-गंभीर चर्चा करने के लिए मीडिया जर्नल ‘कम्युनिकेशन टुडे’ की ओर से एक खास वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है।


‘कम्युनिकेशन टुडे’ के संपादक डॉ. संजीव भानावत ने बताया कि ‘भविष्य का मनोरंजन-ओटीटी’ विषयक इस वेबिनार में मीडिया से जुड़े विशेषज्ञ ओवर द टॉप (ओटीटी) कंटेंट से संबंधित रुझानों पर चर्चा करेंगे। प्रमुख वक्ता के तौर पर लखनऊ यूनिवर्सिटी के जनसंचार विभाग के हैड प्रो. मुकुल श्रीवास्तव, ‘सिने मीडिया अपडेट’ के प्रधान संपादक श्याम माथुर, भुवनेश्वर के मीडिया शिक्षक डॉ. राजीवकुमार पंडा और कोलकाता के लेखक-निर्देशक सप्तऋषि मजूमदार इस वेबिनार में टेलीविजन और सिनेमा देखने के रुझान में आए बदलाव का पता लगाने का प्रयास करेंगे।

डॉ. भानावत ने कहा, ‘नेटफ्लिक्स, अमेज़ॅन प्राइम, हॉटस्टार, ज़ी5 और एएलटी बालाजी, जियो टीवी कुछ ऐसे उदाहरण हैं, जो इंटरनेट के माध्यम से फिल्में और अन्य वीडियो सामग्री प्रदान कर रहे हैं। ये मंच टेलीविजन और सिनेमा के नए प्लेटफॉर्म साबित हुए हैं। कुछ नए उद्यम केवल इन इंटरनेट प्लेटफॉर्म के लिए वीडियो सामग्री तैयार कर रहे हैं। अब दर्शक इन नए मीडिया प्लेटफॉर्म पर नई फिल्में, वेब सीरीज, वृत्तचित्र, समाचार और लघु फिल्में अपने सुविधाजनक समय पर देख सकते हैं। इस तरह ये नए उद्यम भारतीय टेलीविजन और सिनेमा को कई तरह से बदल रहे हैं। इस वेबिनार का उद्देश्य यह जानना है कि नए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के कारण भारतीय टेलीविजन और सिनेमा कैसे बदल रहे हैं और वीडियो सामग्री देखने के लिए युवा इन नए डिजिटल प्लेटफॉर्म का उपयोग कैसे कर रहे हैं। यह वेबिनार दर्शकों की वीडियो सामग्री देखने की आदतों का विश्लेषण करेगा और साथ ही युवाओं में टेलीविजन और सिनेमा देखने के रुझान में बदलाव का पता लगाने का प्रयास करेगा।’



Popular posts from this blog

‘कम्युनिकेशन टुडे’ की स्वर्ण जयंती वेबिनार में इस बार ‘खबर लहरिया’ पर चर्चा

ऑडियो-वीडियो लेखन पर हिंदी का पहला निशुल्क पाठ्यक्रम 28 जनवरी से होगा शुरू