गणतंत्र दिवस पर बच्चों को उपहार में देंगे बाल पत्रिकाएं

 -ब्यूरो रिपोर्ट-

जयपुर। जयपुर स्थित सेंटर फॉर पब्लिक अवेयरनेस एंड इनफार्मेशन के डायरेक्टर आचार्य सत्यनारायण पाटोदिया ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर बच्चों को उपहार में बाल पत्रिकाएं भेंट करने की पहल की है। आचार्य पाटोदिया की इस अनूठी पहल का शहर के अनेक सामाजिक संगठनों ने स्वागत किया है और इसे बच्चों को अपनी संस्कृति से जोड़ने की दिशा में एक नया कदम बताया है।

आचार्य सत्यनारायण पाटोदिया ने अपनी इस पहल की चर्चा करते हुए कहा कि वर्तमान दौर में बच्चों और किशोरों की पीढ़ी अपनी संस्कृति से विमुख होती जा रही है और ज्यादातर बच्चे मोबाइल और दूसरे गैजेट्स के गुलाम होते जा रहे हैं। ऐसे में अभिभावकों के साथ-साथ समाज के प्रबुद्ध वर्ग का यह दायित्व हो जाता है कि वे बच्चों को सही दिशा प्रदान करने का प्रयास करें। इसी विचार को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने बच्चों को बाल पत्रिकाओं के सेट निशुल्क उपलब्ध कराने की दिशा में कदम उठाया है। उन्होंने बताया कि वे गणतंत्र दिवस के अवसर पर दोपहर  1 बजे से 3 बजे तक अनेक पत्रिकाएं एवं पुस्तकें निशुल्क वितरित करेंगे। 

बचपन में हम चंदामामा, पराग, चाचा चौधरी, चम्पक, डायमंड कॉमिक्स आदि पत्रिकाएं पढ़ते थे।  धीरे धीरे इनका प्रकाशन ही समाप्त हो गया। आज यदि हम अपनी बाल एवं किशोर पीढ़ी को इन पत्रिकाओं के बारे में बताना भी चाहे तो ये उपलब्ध नहीं होती है। ये कॉमिक्स अपने पोते पोतियों को दिखाना भी चाहे तो नहीं मिलते हैं। 

इनमें से अनेक पत्रिकाएं और कॉमिक्स ऐसे हैं, जिनका व्यक्तिगत संग्रह आचार्य सत्यनारायण पाटोदिया ने अपने लिए किया था। अब इस संग्रह को बाल एवं किशोर पीढ़ी को निशुल्क भेंट कर रहे हैं। इनके अलावा अनेक पत्रिकाएं सरिता, गृहशोभाधार्मिक एवं आध्यात्मिक पुस्तकें जैसे कल्याण आदि, अनेक सामाजिक, आर्थिक, कानूनी, बैंकिंग, चिकित्सा से सम्बंधित पुस्तकें भी निशुल्क वितरण की जाएंगी। इच्छुक लोग 26  जनवरी को दोपहर 1 बजे से 3 बजे के बीच बनीपार्क स्थित मीरा हॉस्पिटल के कार्यालय से अपनी रुचि के अनुसार पुस्तकों का चयन कर सकते हैं।

हाल ही आचार्य पाटोदिया ने नए साल की शुरुआत के अवसर पर 5 लोगों को हाथ में जल लेकर गुटखा- तम्बाकू छोड़ने का संकल्प करवाया था।

Popular posts from this blog

‘कम्युनिकेशन टुडे’ की स्वर्ण जयंती वेबिनार में इस बार ‘खबर लहरिया’ पर चर्चा

ऑडियो-वीडियो लेखन पर हिंदी का पहला निशुल्क पाठ्यक्रम 28 जनवरी से होगा शुरू

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिये मनोरंजन उद्योग में आए बदलावों पर चर्चा के लिए वेबिनार 19 को