ड्रग्स के साथ पुराना है बॉलीवुड का याराना

 - ब्यूरो रिपोर्ट -

मुंबई। बॉलीवुड के साथ ड्रग्स का कनेक्शन एक बार फिर चर्चा में है। हालांकि इस दफ़ा इसमें सीधे-सीधे कोई स्टार शामिल नहीं है बल्कि बॉलीवुड के बादशाह कहे जाने वाले शाहरुख़ ख़ान के बेटे आर्यन ख़ान का नाम सामने आया है। दरअसल एनसीबी ने शनिवार आधी रात को मुंबई में एक क्रूज़ पर छापा मारा था। एनसीबी ने इस मामले में आर्यन समेत तीन लोगों को गिरफ़्तार किया था। एनसीबी के अनुसार इस छापे में कुल 13 ग्राम कोकीन, 21 ग्राम चरस, एमडीएम प्रतिबंधित दवा की 22 गोलियां और पांच ग्राम एमडी बरामद की गई। अगर आप इसे कोई बहुत बड़ी मात्रा समझ रहे हैं तो जान लीजिए कि भारत में हर साल दो से चार टन चरस और कम से कम 300 टन गांजा बरामद किया जाता है।

बॉलीवुड में ड्रग्स के मामलों ने कई बार तूल पकड़ा है, हालाँकि आधिकारिक तौर पर किसी तरह की गंभीर जाँच में कुछ नहीं साबित हुआ है। वैसे फ़िल्म जगत की कुछ हस्तियों को ड्रग्स के चलते जेल जाना पड़ा है तो कई हस्तियों ने ड्रग्स रिहैबिलिटेशन में अपना इलाज करवाया है।

अभिनेता संजय दत्त का ड्रग्स लेना तो बॉलीवुड सितारों में सबसे चर्चित मामला रहा है। उनके पिता सुनील दत्त उन्हें रिहैब सेंटर ले गए जिसके बाद संजय दत्त ने बॉलीवुड में वापसी की थी। संजय दत्त की ज़िंदगी पर बनी फ़िल्म 'संजू' में भी इसका जिक्र किया गया है। राज बब्बर और स्मिता पाटिल के बेटे प्रतीक बब्बर ने भी कबूल किया था कि 13 साल की उम्र से उन्होंने ड्रग लेना शुरू कर दिया था। हालाँकि बाद में उन्होंने रिहैब सेंटर में इलाज करा कर ड्रग्स से छुटकारा पाया, प्रतीक बब्बर अपने को ख़ुशकिस्मत मानते हैं कि वे ड्रग्स के इस्तेमाल के बाद भी फिर से सामान्य जीवन में इलाज के बाद लौट पाए।

फ़िरोज़ ख़ान के बेटे फ़रदीन ख़ान को 2001 में मुंबई पुलिस ने ड्रग्स के साथ पकड़ा था। फ़रदीन ख़ान का मामला कोर्ट तक पहुँचा था, जहाँ उन्होंने रिहैब सेंटर से अपना इलाज कराने के बात स्वीकार की थी जिसके चलते उन्हें कोई सज़ा नहीं मिली थी। बीते दिनों के सितारे संजय ख़ान के दामाद डीजे अकील 2007 में दुबई में प्रतिबंधित ड्रग के आरोप में हिरासत में लिए गए थे। हालाँकि बाद में उनके ख़िलाफ़ किसी तरह का सबूत नहीं मिलने के बाद उन्हें इस आरोप से बरी किया गया था।

चर्चित कैरेक्टर आर्टिस्ट विजय राज को 2005 में दुबई में ड्रग्स सेवन के आरोप में हिरासत में लिया गया था। विजय उस समय फ़िल्म 'दीवाने हुए पागल' की शूटिंग करने गए थे। हालांकि विजय राज ने इस मामले में हमेशा अपने आपको निर्दोष बताया। एक दौर में भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता रहे प्रमोद महाजन के बेटे और टीवी शो बिग बॉस से चर्चा में आए राहुल महाजन का नाम भी ड्रग्स से जुड़ा। राहुल महाजन पर ड्रग्स लेने के आरोप भी लगे और उन्हें जेल भी जाना पड़ा। उन पर आरोप लगे थे कि ड्रग्स के ओवरडोज़ के कारण ही उनकी तबीयत बिगड़ी थी और उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया था। लेकिन उन्होंने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को ग़लत बताया था।

मुंबई में फ़िल्म सितारों की पार्टियाँ भी कई प्रकार की होती हैं, जहाँ अलग-अलग प्रकार से मनोरंजन होता है। कभी फ़िल्मों की सफलता के नाम पर तो कभी मुहूर्त के नाम पर भी पार्टियाँ होती हैं। जहाँ फ़िल्म की टीम के साथ मीडिया भी होती है। ऐसी पार्टियों में सितारों की चकाचौंध होती है और शराब की बोतलें भी होती हैं। लेकिन ड्रग्स नहीं होता है। मीडिया की मौजूदगी में सितारे अपने जन्मदिन की पार्टियाँ भी मनाते हैं, वहाँ भी ऐसा कुछ नहीं होता है, तो सबसे बड़ा सवाल यह ज़रूर हो सकता है कि आख़िर किन पार्टियों में ड्रग्स के इस्तेमाल की ख़बरें आती हैं।

दरअसल फ़िल्म सितारे प्राइवेट पार्टियों का आयोजन भी करते हैं, जहाँ मीडिया आमंत्रित नहीं होता। इसके अलावा डिस्को और पब में भी ख़ूब पार्टियाँ होती हैं। मुंबई में रेव पार्टियाँ भी ख़ूब होती हैं।

Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!