अभिनेता अनुपम श्याम ने ली आखिरी सांस, आर्थिक तंगी से भी थे परेशान

- ब्यूरो रिपोर्ट -

मुंबई। टेलीविजन की दुनिया के दिग्गज अभिनेता अनुपम श्याम ओझा का 63 वर्ष की आयु में रविवार को देर रात निधन हो गया। मुंबई में मल्टीपल ऑर्गन फेल्योर के कारण उनका निधन हुआ। दिग्गज अभिनेता के निधन पर टेलीविजन इंडस्ट्री में शोक की लहर है। फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने भी इस खबर की पुष्टि की। उन्होंने ट्विटर पर भावुक संदेश के साथ अपनी संवेदना व्यक्त की। अशोक पंडित ने लिखा कि एक बेहतरीन अभिनेता और एक महान इंसान अनुपम श्याम के कई अंगों की विफलता के कारण निधन के बारे में जानकर दुख हुआ। उनके परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। फिल्म और टीवी उद्योग के लिए यह एक बड़ी क्षति है।

बता दें कि अभिनेता अनुपम श्याम ने कई लोकप्रिय फिल्मों में खलनायक की भूमिकाएँ निभाकर प्रसिद्धि प्राप्त की। उन्होंने ‘मन की आवाज प्रतिज्ञा’ में ठाकुर सज्जन सिंह के रूप में अभिनय किया। उनकी अन्य लोकप्रिय फिल्मों में नायक, दुबई रिटर्न, परजानिया, लज्जा, हजारों ख्वाहिशें ऐसी, शक्ति- द पावर और बैंडिट क्वीन शामिल हैं।

यह बहुत ही कम लोगों को पता है कि अभिनेता ने 2008 में समीक्षकों द्वारा प्रशंसित फिल्म स्लमडॉग मिलियनेयर में अभिनय किया था। इसके बाद उन्होंने अन्य अंतरराष्ट्रीय फिल्मों में भी अभिनय किया। 

अनुपम श्याम को किडनी की समस्या के चलते एक हफ्ते पहले अस्पताल के आईसीयू वॉर्ड में गंभीर हालत में भर्ती कराया गया था जहां उनकी हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी जो डॉक्टरों के लिए चिंता का विषय बनी हुई थी। पिछले साल मार्च में भी उनके किडनी फेल होने की जानकारी सामने आई थी, जिसका इलाज करवाने के लिए उनके पास पैसे नहीं थे। 

अनुपम श्याम आर्थिक तंगी से गुजर रहे थे। उनके परिवारजनों ने टीवी और बॉलीवुड समेत फैंस मदद की अपील की थी, जिसके बाद कई सेलेब्स ने उनकी मदद की। इस साल मार्च में उन्होंने दोबारा काम करना शुरू कर दिया था। 

‘मन की अवाज- प्रतिज्ञा’ के पहले सीजन से उन्हें काफी पॉपुलैरिटी मिली थी। इसका पहला सीजन साल 2009 में शुरू हुआ था। शो में अनुपम श्याम ओझा ने सज्जन सिंह का किरदार निभाया था। सज्जन सिंह के उनके किरदार से पहले उन्होंने कई फिल्मों और टीवी सीरियल्स में दमदार किरदार निभाए। अनुपम श्याम ओझा ने पहले पहले टीवी की दुनिया में कदम रखा। साल 1992 में दूरदर्शन के शो ‘अमरावती की कहानियां’ में उन्होंने अलग-अलग किरदार निभाए। इसके बाद उन्होंने बॉलीवुड में कदम रखा। साल 1996 में आई फिल्म ‘दस्तक’ उनकी डेब्यू फिल्म बनी।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!