नीना गुप्ता की आत्मकथा 'सच कहूं तो' लॉन्च के लिए तैयार

 - ब्यूरो रिपोर्ट -

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस नीना गुप्ता अपनी ऑटोबायोग्राफी 'सच कहूं तो' को लॉन्च करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। इस बात की जानकारी देते हुए नीना अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें उन्होंने बताया है कि वह पिछले एक साल से इसे लिख रही थीं, लेकिन अब पूरी हो गई हैं और अब प्री-ऑर्डर के लिए उपलब्ध है। 

नीना ने अपने वीडियो संदेश में कहा, 'मैंने सोचा कि इस समय जब हम एक बेहद मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं। हम निराश और घबराएं हुए हैं, ऐसे समय में शायद मेरी पुस्तक आपको कुछ सुकून दे सके।' नीना की इस ऑटोबायोग्राफी में उनकी पर्सनल लाइफ, कास्टिंग काउच, फिल्म उद्योग की राजनीति इत्यादि को लेकर काफी कुछ लिखा गया है। 


बेटी मसाबा के साथ नीना गुप्ता

अपनी ऑटोबायोग्राफी को लेकर नीना ने कहा, 'मैंने इसमें बचपन से लेकर अभी तक की जिंदगी को समेटने की कोशिश की है, जहां मैंने परिवार, दोस्त, करियर और शादी के बारे में लिखा है। इसमें बॉलीवुड में मेरे खट्टे-मीठे अनुभव का भी जिक्र है।' ऑटोबायोग्राफी के टाइटल पर नीना ने कहा, 'मैं इंस्टाग्राम पर एक वीडियो सीरीज किया करती थी, जिसका नाम 'सच कहूं तो' है, वो सबको बहुत पसंद आती थी, तो मैंने सोचा चलो यही नाम रख लेते हैं।' 

नीना गुप्ता को हाल ही फिल्म 'सरदार का ग्रैंडसन' में देखा गया था। इस फिल्म में उन्होने 90 साल की बुजुर्ग औरत का रोल प्ले किया है। फिल्म में अर्जुन कपूर उनके पोते बने हैं। इस फिल्म के अलावा नीना '83', 'डायल 100' और 'ग्वालियर' जैसी फिल्मों में भी काम कर रही हैं। 

बता दें कि नीना वेस्टइंडीज के क्रिकेटर विवियन रिचर्ड्स के साथ रिलेशन में थीं, जिनसे उनकी बेटी मसाबा गुप्ता हैं। हालांकि विवियन और नीना का रिश्ता ज्यादा लंबा नहीं चला और ब्रेकअप हो गया था। उसके बाद नीना ने विवेक मेहरा से शादी की। हाल ही में एक इंटरव्यू में नीना ने बताया कि वो पिछले साल हुए लॉकडाउन में अपने पति विवेक के साथ छह महीने के लिए मुक्तेश्वर में रहीं थीं। नीना ने कहा, 'मेरे पति दिल्ली में रहते हैं और मै मुंबई मेंहमेशा से हमारे साथ ऐसा ही रहा है। तो ऐसा पहली बार हुआ जब लॉकडाउन में हम इतने दिनों एक साथ रहे। पहली बार उन्होंने मुझे जाना और मैंने उन्हें।'

 

 

 

Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!