दूरदर्शन का अंतरराष्ट्रीय चैनल जल्द, कंपनियों से मांगे आवेदन

- ब्यूरो रिपोर्ट -

नई दिल्ली। दुनिया में भारत की ‘सही’ और ’उचित’ तस्वीर पेश करने के मकसद से केंद्र सरकार ने अंतराष्ट्रीय स्तर पर दूरदर्शन का चैनल लॉन्च करने की तैयारी कर ली है। इन तैयारियों के बीच प्रसार भारती ने ‘डीडी इंटरनेशनल’ चैनल लॉन्च की दिशा में पहला कदम बढ़ा दिया है।

प्रस्तावित ‘डीडी इंटरनेशनल’ चैनल में होने वाली भर्तियों को लेकर बीबीसी ने पोस्ट किया यह कार्टून

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक प्रसार भारती बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद दूरदर्शन ने ‘डीडी इंटरनेशनल’ को स्वरूप देने के लिए कसंल्टेंट नियुक्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बोर्ड ने कसंल्टेंट नियुक्त करने के लिए वैश्विक निविदा आमंत्रित की हैं और 28 मई तक टेलिविजन ब्रॉडकास्टिंग क्षेत्र की सलाहकार कंपनियों से आवेदन मांगे गए हैं। कसंल्टेंट नियुक्त करने के लिए 13 मई को एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रेस्ट निकाला गया था। इसमें साफ किया गया है डीडी इंटरनेशनल चैनल की स्थापना के लिए सलाहकार को डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट के साथ पेश होना होगा। 

रिपोर्टों में कहा गया है कि अमेरिका के ‘सीएनएन’ न्यूज चैनल और ब्रिटेन के ‘बीबीसी’ की तर्ज पर दूरदर्शन के इंटरनेशनल चैनल की जरूरत लंबे अर्से से महसूस की जा रही है और बीते कुछ सालों में इस प्रस्ताव को लेकर सुगबुगाहट भी हुई, लेकिन वैश्विक चैनल स्थापित करने का कोई पूर्व अनुभव न होने की वजह से डीपीआर और रोडमैप तैयार करने के लिए प्राइवेट कसंल्टेंट को नियुक्त करने का निर्णय लिया गया है।

ईओआई के मसौदे के अनुसार,मौजूदा वैश्विक भू-राजनीतिक और आर्थिक कूटनीति की व्यवस्था में भारत के दृष्टिकोण को स्थापित करने के मकसद से इस चैनल की कार्ययोजना बनाई जा रही है। स्वाभाविक रूप से प्रस्तावित डीडी इंटरनेशनल चैनल का एक मुख्य मकसद समसामयिक विषयों पर देश के बारे में वैश्विक मीडिया के एकांगी नजरिये का जोरदार जवाब देते हुए भारत की सही तस्वीर पेश करना भी होगा।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!