टाइम्स नेटवर्क के हिंदी न्यूज चैनल ‘नवभारत’ की लॉन्चिंग अगले महीने

 - ब्यूरो रिपोर्ट -

नई दिल्ली। समाचार चैनलों की भीड़ के बीच अब टाइम्स ऑफ इंडिया भी अपना हिंदी न्यूज चैनल लेकर आ रहा है। सब कुछ ठीक चला, तो अगले महीने से टाइम्स नेटवर्क के हिंदी न्यूज चैनल नवभारत का प्रसारण शुरू हो जाएगा। अभी टाइम्स नेटवर्क चार न्यूज चैनल चला रहा है, लेकिन ये सभी चैनल अंग्रेजी में हैं। अब देश के हिंदी भाषी दर्शकों तक अपनी पहुंच बनाने के लिए टाइम्स नेटवर्क ने हिंदी न्यूज चैनल के मैदान में उतरने का फैसला किया है। टाइम्स नेटवर्क ने यह निर्णय भारतीय भाषाओं में अपने विस्तार की दिशा में कदम बढ़ाते हुए किया है।

मीडिया रिपोर्टों में बताया गया है कि टाइम्स नेटवर्क के हिंदी न्यूज चैनल का नाम नवभारत होगा और यह जून के दूसरे अथवा तीसरे हफ्ते में लॉन्च हो सकता है। हालांकि कोविड संकट को देखते हुए चैनल की लॉन्चिंग में कुछ देरी हो सकती है। कंपनी ने हाल ही मुंबई में इस चैनल का ट्रायल रन किया था।

अंग्रेजी न्यूज चैनलों के साथ टाइम्स नेटवर्क जीईसी यानी जनरल एंटरटेनमेंट चैनल भी चलाता है। इनमें मूवीज नाउ, मूवीज नाउ एचडी, एमएऩ, एमएनएक्स और एमएनएक्स एचडी व जूम आदि चैनल शामिल हैं। कंपनी के अंग्रेजी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ, टाइम्स नाउ वल्र्ड, ईटी नाउ और मिरर नाउ मेट्रो शहरों में बहुत पसंद किए जाते हैं। मशहूर टीवी पत्रकार अर्णव गोस्वामी ने रिपब्लिक भारत टीवी चैनल को लाॅन्च करने से पहले टाइम्स नाउ के जरिये ही अपनी एक खास पहचान बनाई थी।

पिछले साल फर्जी टीआरपी के एक मामले में 4 नवंबर 2020 को मुंबई पुलिस ने अर्णव गोस्वामी को गिरफ्तार किया था। तब देश भर में जनता ने तो इस गिरफ्तारी का विरोध किया था, साथ ही केंद्रीय मंत्री, राज्यों के मुख्यमंत्री, सांसद और विधायकों तक ने इस गिरफ्तारी की कड़ी निंदा की थी। केवल शिवसेना और महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई पुलिस की कार्रवाई को सही ठहराया था और अर्णव को गिरफ्तार करने वाले सचिन वझे और उनकी टीम की सराहना भी की थी। इसके बाद हालात बदले, अर्णव जेल से रिहा हो गए और फिर मुकेश अंबानी के बंगले एंटीलिया के घर के बाहर विस्फोटक रखने के मामले में सचिन वझे को गिरफ्तार किया गया। इस मामले की जांच एनआईए कर रही है, जो सीधे तौर पर केंद्र सरकार के अधीन है। ज्यादातर लोगों का मानना है कि अर्णव को गिरफ्तार करना सचिन वझे को महंगा पड़ा।

Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक