सामाजिक कार्यकर्ता की शिकायत के बाद ई-कॉमर्स कंपनी मिंत्रा ने किया अपना ‘लोगो’ बदलने का फैसला

- ब्यूरो रिपोर्ट -

नई दिल्ली। ई-कॉमर्स कंपनी मिंत्रा ने मुंबई पुलिस में दर्ज एक शिकायत के बाद अपना लोगो बदलने का फैसला किया है। मुंबई के एनजीओ अवेस्ता फाउंडेशन से जुड़ीं सामाजिक कार्यकर्ता नाज़ पटेल ने दिसंबर 2020 में मुंबई पुलिस की साइबर सेल के समक्ष शिकायत दर्ज कराई थी कि कंपनी का लोगो महिलाओं की गरिमा को ठेस पहुंचाने वाला है।



नाज़ पटेल का आरोप था कि मिंत्रा का लोगो एक नग्न महिला से मिलता-जुलता है, जिस वजह से उन्होंने मिंत्रा के खिलाफ कार्रवाई करने की भी मांग की। पुलिस उपायुक्त (साइबर अपराध) रश्मि करंदीकर ने कहा, ‘हमें पता चला कि कंपनी का लोगो महिलाओं की गरिमा को ठेस पहुंचाने वाला था. शिकायत के बाद हमने मिंत्रा और उनके अधिकारियों को एक ईमेल भेजा और कि वे आकर हमसे मिले। इसके बाद कंपनी ने कहा कि उसकी वेबसाइट, ऐप और पैकेजिंग सामग्री सभी स्थानों पर कंपनी के लोगो को बदला जा रहा है और कंपनी एक महीने के भीतर अपना लोगो बदल देगी। उन्होंने कहा, ‘हमने शिकायत के बाद मिंत्रा के साथ एक बैठक की. कंपनी के अधिकारी बैठक में आए और लोगो बदलने के लिये सहमत हुए। उन्होंने इस बारे में एक ई-मेल भेजा है।

शिकायतकर्ता महिला नाज़ पटेल अवेस्ता फाउंडेशन की संस्थापक भी हैं, फाउंडेशन ने इस घटनाक्रम पर ट्वीट कर बधाई भी दी। अवेस्ता फाउंडेशन ने ट्वीट कर कहा, ‘हमारी संस्थापक को बधाई। उन्होंने ऐसा काम किया, जो स्पष्ट रूप से असंभव लग रहा था। आपके समर्थन के लिए धन्यवाद। हम प्रतिक्रिया से अभिभूत हैं। लाखों महिलाओं की चिंताओं को दूर करने और भावनाओं का सम्मान करने के लिए मिंत्रा को सलाम!

बता दें कि फ्लिपकार्ट समूह की कंपनी मिंत्रा देश की सबसे बड़े फैशन ई-रिटेलरों में से एक है। मिंत्रा की स्थापना 2007 में की गई थी, लेकिन 2014 में फ्लिपकार्ट ने इसका अधिग्रहण कर लिया था।

Popular posts from this blog

‘कम्युनिकेशन टुडे’ की स्वर्ण जयंती वेबिनार में इस बार ‘खबर लहरिया’ पर चर्चा

ऑडियो-वीडियो लेखन पर हिंदी का पहला निशुल्क पाठ्यक्रम 28 जनवरी से होगा शुरू

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिये मनोरंजन उद्योग में आए बदलावों पर चर्चा के लिए वेबिनार 19 को