अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में इस बार फोकस बांग्लादेश के सिनेमा पर

 

- ब्यूरो रिपोर्ट -

नई दिल्ली। भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव ने इस बार के 'कंट्री इन फोकस' खंड की घोषणा की है। इसमें 51वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में जो देश केंद्र में होगा, वो है - बांग्लादेश। 'कंट्री इन फोकस' एक विशेष खंड है जो संबंधित देश की सिनेमाई उत्कृष्टता और योगदान को मान्यता देता है। 51वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में बांग्लादेश की चार फिल्मों का प्रदर्शन होगा-

1. जिबोंधुली - डायरेक्टर तनवीर मोकामेल

2. मेघमल्लार - डायरेक्टर ज़ाहिदुर रहमान अंजान

3. अंडर कंस्ट्रक्शन - डायरेक्टर रुबाइयत हुसैन

4. सिन्सियरली योर्स, ढाका - डायरेक्टर नुहाश हुमायूं, सैयद अहमद शौकी, राहत रहमान जॉय, एमडी रोबीउल आलम, गोलम किब्रिया फारूकी, मीर मुकर्रम हुसैन, तनवीर अहसान, महमूदुल इस्लाम, अब्दुल्ला अल नूर, कृष्णेंदु चट्टोपाध्याय, सैयद सालेह अहमद सोभान



भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई),एशिया के सबसे महत्वपूर्ण फिल्म समारोहों में से एक है। सालाना आयोजित होने वाला ये महोत्सव वर्तमान में गोवा में होता है। इस महोत्सव का उद्देश्य सारी दुनिया के सिनेमा के लिए एक समान मंच मुहैया करवाना है ताकि फिल्म कला की उत्कृष्टता को प्रस्तुत किया जा सके, अलग अलग देशों के सामाजिक और सांस्कृतिक लोकाचार के संदर्भ में इन देशों की फिल्म संस्कृतियों की समझ और सराहना में योगदान देना, और दुनिया के लोगों के बीच दोस्ती और सहयोग को बढ़ावा देना है। इस महोत्सव का संचालन फिल्म समारोह निदेशालय (सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत) और गोवा सरकार के संयुक्त तत्वावधान में किया जाता है। इस महोत्सव का 51वां संस्करण 16 से 24 जनवरी तक आयोजित किया जा रहा है।

Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक