कोलकाता में दुर्गा पूजा पंडाल में लगाया सोनू सूद का स्टैच्यू, बोले सोनू सूद- अब तक का सबसे बड़ा अवार्ड

कोलकाता। कोरोना महामारी के दौरान लाॅकडाउन के दौर में हजारों प्रवासी कामगारों को उनके घर पहुंचाने में मदद करने वाले अभिनेता सोनू सूद की आदमकद मूर्ति कोलकाता में एक दुर्गा पूजा पंडाल में लगाई गई है। एक्टर सोनू सूद ने जमीन स्तर पर जाकर गरीबों को मदद पहुंचाने का काम किया और बसों, ट्रेनों और यहां तक ​​कि उड़ानों से दूसरे प्रदेशों में फंसे लोगों की मदद कर उन्हें घर पहुंचाया। लॉकडाउन के दौरान सोनू सूद लगातार ऐसा करते रहे।



कोलकाता में एक शानदार प्रतिमा के साथ हजारों प्रवासियों की घर वापसी में मदद करने वाले अभिनेता सोनू सूद को कोलकाता के दुर्गा पूजा पंडाल द्वारा सम्मानित किया गया है। केशोपुर प्रफुल्ल कानन दुर्गा पूजा समिति ने तालाबंदी के दौरान प्रवासी श्रमिकों के संघर्ष को अपनी पूजा का विषय बनाने का फैसला किया है।


एक्टर सोनू सूद ने जमीन स्तर पर जाकर गरीबों को मदद पहुंचाने का काम किया और बसों, ट्रेनों और यहां तक ​​कि उड़ानों से दूसरे प्रदेशों में फंसे लोगों की मदद कर उन्हें घर पहुंचाया। लॉकडाउन के दौरान सोनू सूद लगातार ऐसा करते रहे। घर पहुंचाने के साथ-साथ उन्हें आर्थिक मदद भी पहुंचाई। सोनू सूद की निस्वार्थ होकर की गयी प्रवासी मजदूरों की मदद की लोगों ने बड़े स्तर पर प्रशंसा की। 


अभिनेता ने यह कहते हुए एक प्रतिमा की स्थापना का भी जवाब दिया कि 'यह अब तक का सबसे बड़ा पुरस्कार है।' पूजा समिति के एक सदस्य ने कहा कि उन्होंने इस वर्ष पूजा के लिए प्रवासी श्रमिकों की थीम का उपयोग करने का फैसला किया है। तालाबंदी के दौरान उन्होंने बहुत संघर्ष किया था। इससे पहले, एक और पंडाल ने देवी दुर्गा की मूर्ति को बदल दिया था, जिसमें एक महिला प्रवासी कार्यकर्ता अपने बच्चों को ले जा रही थी।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक