कंगना के ख़िलाफ़ भड़काऊ भाषणों के माध्यम से नफरत फैलाने के लिए शिकायत दर्ज

मुंबई। मुंबई की एक अदालत में अभिनेत्री  कंगना रनौत के खिलाफ उनके द्वारा दिए गए भड़काऊ भाषणों के माध्यम से “नफरत फैलाने और देश की अखंडता को तोड़ने” के लिए शिकायत दर्ज की गई है। मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट 65 वीं अदालत, अंधेरी, मुंबई ने मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख 10 नवंबर निर्धारित की है। शिकायतकर्ता, मुंबई स्थित वकील, अली काशिफ खान देशमुख ने कंगना पर आरोप लगाया है कि उन्होंने न केवल महाराष्ट्र पुलिस, और सरकार पर अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में हमला किया, बल्कि हमारे देश के लोगों के लिए “शत्रुता” को बढ़ावा देने का काम भी किया। 



शिकायत में कंगना  के कई ट्वीट शामिल हैं जिनमें उन्होंने  बॉलीवुड फिल्म उद्योग के नेताओं, महाराष्ट्र पुलिस और व्यक्तित्वों को निशाना बनाया था। शिकायत में कहा गया है कि “कंगना ने अपने सोशल मीडिया खातों के माध्यम से अपने फैनबेस, प्रसिद्धि, शक्ति, प्रभाव का दुरुपयोग करके और भी स्तब्ध कर दिया है और कानूनी रूप से गठित सरकारी निकायों के बीच घृणा, शत्रुता पैदा की  है और एक उद्देश्य और इरादे के साथ अपने ट्वीट्स के माध्यम से भारत में प्रचलित धर्मों को भी प्रभावित कर रही है।”


शिकायतकर्ता ने यह भी कहा कि उसने अंधेरी पुलिस स्टेशन में 4 सितंबर, 2020 को पुलिस शिकायत दर्ज की थी, जिसमें कंगना के खिलाफ उसके “कई अवैध ट्वीट्स” के लिए प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया गया था, और उसने पुलिस को अपना बयान भी दिया था, लेकिन “अपराधों की प्रकृति में गंभीर होने के बावजूद आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।”  काशिफ खान  ने अदालत से इस मुद्दे पर संज्ञान लेने और कंगना के खिलाफ अपराधों के लिए आवश्यक कार्रवाई करने का आग्रह किया है। 


 


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!