बॉलीवुड अभिनेत्रियों को सर्च करने पर वायरस के संपर्क में आने का जोखिम

मुंबई। इंटरनेट पर बॉलीवुड अभिनेत्रियों को सर्च करना या उनका नाम टाइप आपके लिए खतरे से खाली नहीं है।  सही पढ़ा आपने, ये खतरनाक हो सकता है। साइबर सिक्योरिटी सेक्टर की दिग्गज कंपनी मैकेफी (McAfee's) ने एक अलर्ट जारी किया है।  एंटीवायरस बनाने वाली मैकेफी का दावा है कि बॉलीवुड अभिनेत्रियों के नाम सर्च करते ही आपके स्मार्टफोन, टैब या लैपटॉप में वायरस घुस सकता है। दरअसल, मैकेफी (McAfee's) ने मंगलवार को सबसे खतरनाक सेलिब्रिटी 2020 की एक लिस्ट जारी की है. लिस्ट में बॉलीवुड की टॉप अभिनेत्री तब्बू, तापसी पन्नू, अनुष्का शर्मा और सोनाक्षी सिन्हा के नाम भी शामिल हैं।  इसके अलावा, अलग-अलग क्षेत्र से सेलिब्रिटी को इस लिस्ट में शामिल किया गया है।  इंटरनेट पर इन्हें सर्च करने पर वायरस के संपर्क में आने का जोखिम सबसे ज्यादा है। 



मैकेफी की सबसे खतरनाक हस्तियों की 2020 की अंतरराष्ट्रीय सूची में फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो पहले स्थान पर हैं, जबकि दूसरे स्थान पर अभिनेत्री तब्बू है।  हाल ही में तब्बू 'अ सूटेबल ब्वॉय' पर आधारित मीरा नायर की सीरीज में नजर आई थीं। तीसरे स्थान पर फिल्म 'थप्पड़' की अभिनेत्री तापसी पन्नू हैं। चौथे स्थान पर फिल्म निर्माता-अभिनेत्री अनुष्का शर्मा हैं और पांचवें स्थान पर अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा को रखा गया है। 


लिस्ट में अगले पांच नाम भी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री से लिए गए हैं।  इनमें छठें स्थान पर गायक अरमान मलिक, सातवें स्थान पर अभिनेत्री सारा अली खान, आठवें स्थान पर टीवी अभिनेत्री दिव्यांका त्रिपाठी, नौवें स्थान पर अभिनेता शाहरुख खान और 10वें स्थान पर गायक अरिजीत सिंह हैं।  खास बात यह है कि इस लिस्ट में सिर्फ रोनाल्डो ऐसा नाम है, जो स्पोर्ट्स कैटेगरी से आते हैं।  मैकेफी की सबसे खतरनाक सेलेब्रिटी लिस्ट 2020 के 14 वें एडिशन में बाकी सभी नाम बॉलीवुड से जुड़े हैं। 


मैकेफी इंडिया के इंजीनियरिंग और मैनेजिंग डायरेक्टर वेंकट कृष्णपुर के मुताबिक, इन दिनों कंज्यूमर या यूजर्स अपने मनोरंजन के लिए इंटरनेट का भरपूर इस्तेमाल करते हैं।  ऐसे में हैकर्स, साइबर क्रिमिनल्स यूजर्स की इसी दिलचस्पी का फायदा उठाते हैं।  आज के वक्त में ज्यादातर यूजर्स फ्री और पायरेटेड कंटेंट की खोज करते हैं।  इसमें स्पोर्ट्स इवेंट, मूवीज और टीवी शो शामिल हैं।  इसके अलावा अपने फेवरेट सेलिब्रिटी के लीक वीडियो या इमेज को भी सबसे ज्यादा सर्च किया जाता है। 


साइबर क्रिमिनल्स यूजर्स की इसी दिलचस्पी का फायदा उठाते हुए फेक वेबसाइट से ऐसे फैंस का ध्यान खींचते हैं और फिर उनकी डिवाइस में मालेवयर (वायरस) इंस्टॉल कर देते हैं।  इससे यूजर्स की पर्सनल डीटेल्स को खतरा रहता है।  उपभोक्ताओं को इससे सतर्क रहने की जरूरत है। मैकेफी के अलर्ट करने का सिर्फ इतना मकसद है कि वो ऐसे फैंस और यूजर्स को इस तरह के फ्री कंटेंट से बचने की सलाह दे रहे हैं।  ऐसी किसी भी वेबसाइट या लिंक को खोलने से पहले दो बार सोचें। 


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक