सुशांत केस को लेकर टीवी चैनल आपस में भिड़े, एक दूसरे पर पलटवार

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत केस को लेकर सियासत जारी है। हर दिन नई बातें और दावे सामने आ रहे हैं। मीडिया में भी ये मामला लगातार सुर्खियों में बना हुआ है। इस बीच पिछले कई दिनों से वरिष्ठ पत्रकार अरनब गोस्वामी अपने प्रतिद्वंदी चैनल आज तक पर हमलावर हैं। वे रिपब्लिक टीवी पर अपने कार्यक्रम ‘पूछता है भारत’में सुशांत केस के बहाने 'आज तक' को भी निशाने पर ले रहे हैं। आज तक पर रिया चक्रवर्ती का इंटरव्यू प्रसारित होने के बाद उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा था कि रिपब्लिक टीवी आरोपियों को मंच नहीं देता है।



उन्होंने आज तक पर निशाना साधते हुए कहा था कि ‘तक’वालों ने रिया चक्रवर्ती को बचाने के लिए सुशांत को नशेड़ी करार दे दिया, लेकिन इनकी पोल खुल रही है। अर्णब गोस्वामी ने कहा था कि सुशांत सिंह राजपूत का केस पूरा देश लड़ रहा है, लेकिन अभी भी ये ‘तक’वाले देश की आवाज और दबाना चाहते हैं। अरनब के लगातार हमलों के बीच अब आज तक के वरिष्ठ पत्रकार और एंकर राहुल कंवल ने भी पलटवार किया है। उन्होंने रिपब्लिक टीवी पर तंज कसते हुए ट्वीट किया, ‘जो 'बनाना रिपब्लिक' चैनल रिया चक्रवर्ती का इंटरव्यू लेने के लिए इंडिया टुडे पर सवाल खड़े कर रहा था, वही अब पूरे शहर में इस उम्मीद से उतावला होकर रिया को ढूंढ रहा है कि वह उनसे बात करेंगी। इतने हारे हुए क्यों हो। इंडिया टुडे को वो इंटरव्यू मिला जो तुम चाहते थे…कम से कम सम्मान के साथ हारना तो सीखिये गोएबल्स।


आज तक और रिपब्लिक टीवी की इस लड़ाई में कई यूज़र भी कूद पड़े। राहुल कंवल के ट्वीट पर विष्णु त्यागी नाम के एक यूजर ने लिखा ‘पहले अपना टीआरपी चार्ट चेक करिए, फिर कहिए कि कौन जीत रहा है कौन हार रहा है। वो तुमसे बहुत आगे हैं, क्योंकि रिपब्लिक टीवी भारत की आवाज है।' वहीं, महुआ नाम की एक यूजर ने लिखा ‘ये शुद्ध रूप से प्रतिद्वंदिता का मामला है। यहां नैतिकता नाम की कोई चीज नहीं है।’


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक