फिल्म उद्योग को 9 हजार करोड़ का घाटा, सिनेमाघर तुरंत खोलने की मांग

मुंबई। मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ़  इंडिया ने सरकार से मांग की है कि देश के सभी सिनेमाघरों को तुरंत खोलने की अनुमति दी जाए। एक ट्वीट में मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ने कहा कि पिछले 6 महीनों के दौरान फिल्म इंडस्ट्री को 9,000 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है। इन हालात में अब सिनेमाघर फिर से शुरू करने की अनुमति मिलनी चाहिए।



दरअसल अप्रेल से सितंबर के छह महीनों में कोरोना की मार ने फिल्म इंडस्ट्री को  नौ हज़ार करोड़ रुपये का घाटा दे दिया है। लाखों लोग बेरोजगार होने की कगार पर पहुंच गए हैं।  स्थिति की गंभीरता को देखते हुए मल्‍टीप्‍लेक्‍स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने सरकार से देश के सभी थियेटर्स को तुरंत ही फिर से शुरू करने की मांग कर डाली है। एसोसिएशन ने कहा कि मॉल्‍स, एयरलाइंस, रेलवे, रिटेल, रेस्‍टोरेंट, जिम और कई दूसरे सेक्‍टर्स को अनलॉक इंडिया के अंतर्गत फिर से शुरू कर दिया गया है। इसी तरह से अब फिल्म थियेटर भी फिर से शुरू किये जाने को स्वीकृति दी जानी चाहिए। एसोसिएशन ने  कहा कि इससे सीधे तौर पर दो लाख घरों का चूल्हा जलता है। 


भारत में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देश भर में लगाए गए लॉकडाउन में  सिनेमाघरों को भी बंद किया था।  अब चूंकि अनलॉकिंग की प्रक्रिया अलग अलग चरण में चल रही है और अनलॉक-4 तक पहुंच गई है, ऐसे में अब थियेटर्स को दोबारा खोलने को लेकर मांग उठने लगी हैं क्योंकि इससे फिल्‍म इंडस्‍ट्री से जुड़े लाखों लोगों की नौकरी खतरे में पड़ गई है। 


 


Popular posts from this blog

मौत दबे पाँव आई और लियाक़त अली भट्टी को अपने साथ ले गई !

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

कोरोना की चपेट में आए वरिष्ठ पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ के निधन से मीडियाकर्मियों में हड़कंप