रिया चक्रवर्ती को लेकर मीडिया की भूमिका पर उठने लगे कई सवाल


  • देश में इस वक्त कई गंभीर मामले हैं जिन पर टीवी न्यूज चैनलों पर खबरें दिखाई जानी चाहिए और उन पर बहस होनी चाहिए। लेकिन करीब दो महीनों से एक-दो चैनलों को छोड़ बाकी चैनलों पर सिर्फ बॉलीवुड अभिनेता रहे सुशांत सिंह राजपूत और उनकी पूर्व गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती से जुड़ी ही खबरें परोसी जा रही हैं।


मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत की पूर्व गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने अपने इंटरव्यू में कहा है कि उनपर जो आरोप लगाए जा रहे हैं वे बेबुनियाद हैं। उन्होंने कहा कि वह अपने खिलाफ फैली अफवाहों को दूर करना चाहती हैं। गुरुवार को रिया ने देश के तीन सबसे बड़े न्यूज चैनलों को इंटरव्यू दिया और पहली बार अपना पक्ष साफ-साफ शब्दों में रखा। शुक्रवार को सीबीआई के सामने पेशी के पहले उन्होंने दो अंग्रेजी चैनलों और एक हिंदी चैनल को इंटरव्यू दिया। पिछले दो महीनों से टीवी पर रिया के खिलाफ तरह-तरह के इल्जाम लगाए जा रहे थे। उन्होंने सबसे लंबा इंटरव्यू हिंदी चैनल को दिया जिसके बाद उनके समर्थन में भी ट्विटर पर लोग उतर आए और कहा कि रिया को भी अपनी बात रखने का अधिकार है।



भारत में कुछ सालों बाद इतने हाई प्रोफाइल क्राइम केस पर मीडिया में इतना बवाल मचा हुआ है। इससे पहले आरुषि तलवार-हेमराज हत्याकांड, नोएडा का निठारी कांड, निर्भया रेप और बलात्कार मामला, दिल्ली के एक परिवार की सामूहिक खुदकुशी के मामले ने भी खूब सुर्खियां बटोरी। लेकिन सुशांत सिंह का मामला इससे कहीं अधिक आगे बढ़ गया है। इस मामले में बॉलीवुड का हीरो है, हिरोइन है, पैसा है, ड्रग्स और भाई-भतीजावाद भी। रिया ने तीनों चैनलों को दिए इंटरव्यू में अपने आपको बेकसूर साबित करने की कोशिश की। उन्होंने अपने इंटरव्यू में कहा, "मैं इन सारे आरोपों को खारिज करती हूं। ये पूरी तरह से आधारहीन हैं।"


जब उनसे पूछा गया कि अब इतने दिनों बाद वो सामने क्यों आई है तो उन्होंने कहा जिनकी मौत हुई उनका सम्मान देने के लिए। उन्होंने कहा, "इस बिंदु पर मैं सामने इसलिए आई क्योंकि मुझे अपनी कहानी बतानी थी। अफवाह के बारे में.... व्हाट्सऐप चैट जो सोशल मीडिया पर चले रहे हैं..... इस एकतरफा कहानी ने मेरे लिए सब कुछ बर्बाद कर दिया। यह मेरी अपने परिवार के प्रति जिम्मेदारी है।"


सुशांत सिंह की मौत और उसके बाद रिया चक्रवर्ती को लेकर मीडिया कवरेज पर वरिष्ठ पत्रकार प्रभात शुंगलू कहते हैं कि बहुत सारे महत्वपूर्ण मुद्दे ऐसे हैं जिसे मीडिया कभी पकड़ता ही नहीं है। शुंगलू कहते हैं, "सुशांत सिंह का मामला ऐसा है जिसमें सब कुछ है, इसमें पैसों की बात है, इसमें ड्रग्स का एंगल है, इसमें क्राइम का एंगल है, इसमें मर्डर का एंगल है।" मीडिया की भूमिका पर सवाल उठाते हुए शुंगलू कहते हैं कि पहले मीडिया कुछ मुद्दे उठाता था और बहुत सारे महत्वपूर्ण मुद्दे नहीं उठाता था। शुंगलू के मुताबिक, "मीडिया वह मुद्दा उठाता है जो केंद्र सरकार को भी ठीक लगे: मीडिया सरकार के एजेंडे पर चलता है। बिहार में चुनाव है और महाराष्ट्र में सरकार को हिलाना है।"


तीन चैनलों को रिया द्वारा इंटरव्यू दिए जाने का विरोध रिया के परिवार और उनके वकील ने किया है। परिवार के वकील विकास सिंह ने ट्वीट कर कहा, "मेरा दृढ़ता से मानना है कि जिन लोगों का कानूनी मामला चल रहा है उन्हें मीडिया पब्लिसिटी से दूर कर दिया जाना चाहिए। अगर वे निर्दोष साबित होते हैं तो उनकी प्रतिष्ठा धूमिल होती है और अगर वे दोषी हैं तो उन्हें बेवजह पब्लिससिटी मिल जाती है।"


रिया के इंटरव्यू के बाद सुशांत की बहन ने रिया के खिलाफ ट्वीट किए और कहा, "तुम्हारे अंदर राष्ट्रीय मीडिया में आकर मेरे भाई की मौत के बाद उसकी छवि बिगाड़ने की हिम्मत है। तुम्हे नहीं लगता है कि जो कुछ तुमने उसके साथ किया है ईश्वर उसको नहीं देख रहा है?" 


शुंगलू कहते हैं कि मुंबई हमले के आरोपी अजमल आमिर कसाब को भी कोर्ट से ही सजा मिली थी और उसकी पैरवी के लिए कोई वकील भी तैयार नहीं था। शुंगलू के मुताबिक, "कसाब को तो बंदूक ताने पूरे देश ने देखा था और उसने कबूल किया कि उसने ही लोगों को मारा है। कसाब को फांसी की सजा पूरी प्रक्रिया के बाद दी गई थी।" शुंगलू का कहना है कि रिया अब तक कोर्ट में दोषी साबित नहीं हुई है। गौरतलब है कि सुशांत सिंह की मौत के बाद पहली बार शुक्रवार को सीबीआई ने रिया से पूछताछ की। सुप्रीम कोर्ट ने 19 अगस्त को सुशांत सिंह केस की जांच सीबीआई से कराने का आदेश दिया था।


सुशांत सिंह मामले की जांच सीबीआई, ईडी और नार्कोटिक्स विभाग अलग-अलग एंगल से कर रहा है। फिलहाल सीबीआई रिया और सुशांत के करीबी लोगों से इस केस की पूछताछ कर रही है और मौत की असली वजह जानने की कोशिश कर रही है। सुशांत सिंह राजपूत अपने मुंबई स्थित मकान में 14 जून को मृत पाए गए थे। बाद में पुलिस ने कहा था कि उन्होंने खुदकुशी कर ली है। हालांकि परिवार का आरोप है कि सुशांत की हत्या हुई है।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक