केंद्र सरकार के सिविल पेंशनधारक डिजी लॉकर में स्टोर कर सकते हैं इलेक्ट्रोनिक पीपीओ

नई दिल्ली। पेंशन एवं पेंशनधारी कल्याण विभाग (डीओपीपीडब्ल्यू)ने केंद्रीय सरकार के सिविल पेंशनधारकों के लिए डिजी लॉकर  में इलेक्ट्रोनिक पीपीओ सहेज कर रखने की सुविधा शुरू कर दी है। पेंशन एवं पेंशनधारी कल्याण विभाग के संज्ञान में आया था कि कई पेंशनधारक कुछ समय के बाद अपने पेंशन पेमेंट आर्डर (पीपीओ)की मूल प्रतियां खो देते हैं, जो निश्चित रूप से एक अति महत्वपूर्ण दस्तावेज है। पीपीओ के अभाव में, इन पेंशनधारकों को उनके सेवानिवृत्त जीवन के विभिन्न चरणों में अनगिनत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। व्यापक रूप से फैले कोविड-19 महामारी को देखते हुए, नए सेवानिवृत्त अधिकारियों के लिए, यह दुविधा का मामला था कि वे पीपीओ की हार्ड कापी प्राप्त करने के लिए शारीरिक रूप से उपस्थित हों या नहीं।



नई प्रणाली किसी भी पेंशनधारी को उनके डिजी लॉकर  खाते से उनके पीपीओ की नवीनतम प्रति का तत्काल एक प्रिंट आउट प्राप्त करने में सक्षम बनायेगी। यह पहल उनके डिजी लॉकर  में उनके संबंधित पीपीओ के एक स्थायी रिकार्ड का सृजन करेगी और इसके साथ साथ नए पेंशनधारकों को पीपीओ तक पहुंचने में लगने वाली देरी भी खत्म होगी और भौतिक प्रति सुपुर्द करने की आवश्यकता भी नहीं पड़ेगी। सिविल मंत्रालयों द्वारा इस लक्ष्य को 2021-22 तक पूरा किया जाना था, जिसे विभाग ने कोविड-19 महामारी को देखते हुए नियत समय से पहले ही पूरा कर लिया। इस सुविधा को ‘भविष्य ‘ सॉफ्टवेयर के साथ सृजित किया गया है जो पेंशनधारकों के लिए उनकी पेंशन प्रक्रिया आरंभ होने से लेकर प्रक्रिया की समाप्ति तक एक सिंगल विंडो प्लेटफार्म है। ‘भविष्य ‘ अब सेवानिवृत्त होने वाले व्यक्तियों को उनके डिजी लौकर खाते के साथ उनके ‘भविष्य ‘ खाते को जोड़ने और निर्बाधित तरीके से उनके ई-पीपीओ को प्राप्त करने का एक विकल्प उपलब्ध कराएगा। 


पेंशनधारकों के डिजी लौकर में ई-पीपीओ स्टोर करने के लिए निम्नलिखित कदमों की आवश्यकता है:


‘भविष्य ‘ सेवानिवृत्त होने वाले व्यक्तियों को ई-पीपीओ पाने के लिए ‘भविष्य ‘ के साथ उनके डिजी लौकर खाते को जोड़ने का एक विकल्प उपलब्ध कराता है।


उपरोक्त विकल्प सेवानिवृत्त होने वाले व्यक्तियों को सेवानिवृत्त संबंधी फार्म भरने के समय पर एवं फार्म जमा करने के बाद भी उपलब्ध है।


सेवानिवृत्त होने वाले लोग ‘भविष्य ‘ से उनके डिजी लौकर खाते में हस्ताक्षर करेंगे एवं ई-पीपीओ को डिजी लौकर में डालने के लिए ‘भविष्य ‘ को अधिकृत करेंगे।


जैसे ही पीपीओ जारी हो जाता है, यह स्वचालित तरीके से अनुवर्ती डिजी लौकर खाते में चला जाएगा और सेवानिवृत्त होने वाले व्यक्ति को भविष्य द्वारा एसएमएस तथा ईमेज के जरिये सूचना दे दी जाएगी।


ई- पीपीओ को देखने/डाउनलोड करने के लिए, सेवानिवृत्त होने वाले व्यक्ति को अपने डिजी लौकर खाते में लौग करना होगा और केवल लिंक पर क्लिक करना होगा।


सभी मंत्रालयों/विभागों के प्रशासनिक प्रभागों तथा सम्बद्ध/अधीनस्थ कार्यालयों से अनुपालन के लिए सभी संबंधित व्यक्तियों के संज्ञान में इन निर्देशों को लाने का आग्रह किया गया है।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!