सोशल मीडिया पर छाई 'दिल बेचारा', फिल्म के संवादों ने किया इमोशनल

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म 'दिल बेचारा' को दर्शकों और क्रिटिक्स का भरपूर प्यार मिल रहा है। सोशल मीडिया पर फिल्म छाई हुई है वहीं लोग आपस में भी इस पर काफी चर्चा कर रहे हैं। फिल्म डिज्नी हॉटस्टार पर रिलीज हो चुकी है। फिल्म रिलीज के बाद इसकी आईएमडीबी  रेटिंग रात 11 बजे के बाद तक 10/10 दिखाई देती रही, जो कि रेकॉर्ड है। हालांकि अब इसकी रेटिंग 9.8 दिख रही है। यह भी अब तक की टॉप रेटिंग है। भारतीय फिल्मों में 'दिल बेचारा' आईएमडीबी रेटिंग में टॉप पर है।



'दिल बेचारा' को दर्शकों का भरपूर प्यार मिला। फिल्म की स्ट्रीमिंग शुरू होने के 2 घंटे के अंदर हॉटस्टार क्रैश होने की खबरें आने लगीं। वहीं इसकी आईएमडीबी रेटिंग को लेकर भी लोग चर्चा करते रहे। इतना ही नहीं लोग फिल्म देखकर धड़ाधड़ वोट कर रहे थे तो आईएमडीबी सर्वर के भी क्रैश होने की खबरें आईं। एक यूजर ने ट्वीट किया कि ऐसा शायद पहली बार हुआ है। फिल्म को इतना प्यार मिल रहा है, इस बीच फैन्स यही विश कर रहे हैं कि काश सुशांत ये सब देखने के लिए जिंदा होते।


सुशांत की आखिरी फिल्म 'दिल बेचारा' लोगों पर अपना जादू चला चुकी है। फिल्म के सीन से लेकर डायलॉग्स तक इंटरनेट पर छाए हुए हैं। फिल्म ने उनके फैन्स हंसाया और इमोशनल भी किया। कई लोगों ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है कि फिल्म देखकर लग रहा था कि फिल्म सुशांत की रियल लाइफ ट्रैजडी की याद दिला रही थी। फिल्म में सुशांत का एक डायलॉग अपनी फ्यूनरल को लेकर है, जिसे देखने के बाद इमोशंस को कंट्रोल करना वाकई मुश्किल है। लोग फिल्म से अपने फेवरिट डायलॉग्स और सीन के बारे में सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं। फिल्म के एक सीन में मैनी का किरदार निभा रहे सुशांत कहते हैं, मैं अपने अंतिम संस्कार में शामिल होना चाहता हूं। इस सीन ने उनके हर फैन की आंखें नम कर दीं। फिल्म में वह मरने से पहले अपनी शोकसभा का डेमो रखते हैं। इसमें उनका दोस्त और किजी उनके लिए आखिरी शब्द बोलते हैं, जिसे वह बैठकर सुनते हैं। इस सीन से लोग सुशांत की मौत को कनेक्ट कर रहे हैं और काफी इमोशनल हैं।


 


 


 


 


 


Popular posts from this blog

मौत दबे पाँव आई और लियाक़त अली भट्टी को अपने साथ ले गई !

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

कोरोना की चपेट में आए वरिष्ठ पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ के निधन से मीडियाकर्मियों में हड़कंप