चार महीनों से ठप पंजाब के फिल्म उद्योग को फिर मिली शूटिंग की इजाजत

चंडीगढ़।  कोविड-19 और लॉकडाऊन के कारण लगभग चार महीनों से ठप पंजाब के फिल्म उद्योग में एक बार फिर “लाईट्स… कैमरा… एक्शन… " की गूंज सुनाई देगी, लेकिन फिल्म यूनिट को कोविड सुरक्षा प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन करना होगा। पंजाब सरकार के आज यहां जारी बयान के अनुसार मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रदेश में फिल्मों और म्यूजिक  वीडियो की शूटिंग शुरू करने संबंधी तैयार दिशानिर्देशों को मंजूरी दे दी है।



दिशानिर्देशों के अनुसार फिल्म यूनिट के सदस्यों की संख्या 50 से ज्यादा नहीं होगी। सभी सदस्यों की शूटिंग सेे पहले थर्मल स्क्रीनिंग होगी। लोकेशन पर साबुन व हैंड सैनिटाइजर की व्यवस्था करनी होगी व सभी सदस्यों को बार-बार हाथ धोते रहना होगा। कैमरा के सामने जिनका काम है (कलाकार) को छोड़कर सभी का मास्क पहने होना जरूरी होगा। कलाकारों के अलावा अन्य सबके लिए एक दूसरे से दूरी बनाये रखना भी जरूरी होगा। इसके अलावा शूटिंग की अवधि (कार्य घंटे) भी सीमित रखनी होगी। दर्शकों की भीड़ जमा न होने देने के लिए शूटिंग स्थल पर पर्याप्त संख्या में पर्दों की व्यवस्था करनी होगी और भीड़ नियंत्रण के लिए निजी सुरक्षा एजेंसी कर्मियों को तैनात किया जाएगा।


शूटिंग वाली जगह साबुन और पानी का प्रबंध करना होगा और सभी को बार-बार हाथ धोने पड़ेंगे। सामाजिक दूरी के नियमों की पालना करनी लाजिमी होगी और भीड़ को रोकने के लिए व्यवस्था करनी होगी और निजी सुरक्षा कर्मियों की तरफ से भीड़ को कंट्रोल करना यकीनी बनाना होगा।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!