अखबार में पेस्टिंग करने वाला प्यारे मियां  खुद अखबार मालिक बना, सामने आए काले कारनामे

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सामने आए नाबालिग बच्चियों के यौन उत्पीड़न के सनसनीखेज कांड में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। वीवीआईपी अंसल अपार्टमेंट के फ्लैट में रहने वाले आरोपी प्यारे मियां ने घर में ही डांस बार बना रखा था। बता दें कि प्यारे मियां के अंसल अपार्टमेंट में दो फ्लैट हैं। इन फ्लैट पर जब छापेमारी की गई तो यहां पुलिस को डांस बार मिला। श्रीनगर से गिरफ्तार प्यारे मियां के काले साम्राज्य पर पुलिस प्रशासन की नजर है। भोपाल में अवैध संपत्ति ढहाने के बाद उसकी प्रदेशभर में फैली प्रॉपर्टी की लिस्ट तैयार की जा रही  है। प्यारे मियां की भोपाल के अलावा इंदौर और दूसरे जिलों में करोड़ों की अवैध प्रॉपर्टी बताई जा रही है। इसके अलावा आरोपी सरकारी टेंडरों में भी दखल देता था। उसने कई ठेके ले रखे थे।



आरोपी प्यारे मियां राजधानी भोपाल से निकलने वाले एक अखबार के दफ्तर में पेस्टर था। वो अखबार में खबरें चिपका कर पेज तैयार करता था।इस पेस्टिंग के काम के एवज में उसे हजार रुपए महीना मिलते थे। लेकिन हजार रुपए की कमाई उसके लिए कम थी। उसने करोड़पति बनने के लिए घिनोना रास्ता अपनाया। एक अखबार में पेस्टिंग करने वाला प्यारे मियां  खुद अखबार मालिक बन गया। हजार रुपए महीना कमाने वाला प्यारे मियां इन काले कारनामों की वजह से कुछ ही साल में करोड़पति बन बैठा।


प्यारे मियां ने भोपाल, इंदौर के साथ कई जगहों पर अय्याशी के अड्डे बना रखे थे। यहां पर वो नाबालिग लड़कियों को रसूखदारों के सामने पेश करता था। उसके इन अय्याशी के अड्डों पर नाइट पार्टी हुआ करती थीं। महंगी-महंगी शराब इस पार्टी में परोसी जाती थी। बड़े-बड़े लोग इसकी पार्टी में शामिल होते थे। यह घिनौना खेल पिछले 2 साल से चल रहा है। लेकिन पत्रकारिता और राजनीति के साथ प्रशासनिक अधिकारियों का संरक्षण मिलने की वजह से वो बचता रहा। उसने कई सरकारी जमीनों पर अपनी काली कमाई का साम्राज्य खड़ा कर दिया था।


जहां हर रात प्यारे मियां अपने रईस दोस्तों के साथ पार्टी करता था। इस दौरान नाबालिग बच्चियों को शराब पिलाकर उनसे डांस करवाया जाता था। साथ ही उन्हें चाइल्ड पोर्नोग्राफी से जुड़ी फिल्में दिखाकर हवस का शिकार बनाया जाता था। यह बात पीड़ित बच्चियों के बयानों में भी आई है। प्यारे मियां के घर से बारहसिंघा के सींग भी मिले हैं। ऐसे में अब आबकारी एक्ट वन अधिनियम के तहत भी कार्रवाई होगी।


बच्चियों के यौन उत्पीड़न के आरोपी प्यारे मियां का ड्राइवर आष्टा से पकड़ा गया है। वहां उसके मददगार ने इनोवा गाड़ी में बैठाकर प्यारे मियां को महाराष्ट्र की तरफ रवाना किया था। अब पुलिस की आधा दर्जन टीमें भोपाल, इंदौर और महाराष्ट्र के कुछ जिलों में उसकी तलाश कर रही हैं। लुकआउट नोटिस भी जारी किया गया है ताकि वह विदेश न भाग सके। महाराष्ट्र पुलिस की भी मदद ली जा रही है।किशोरियों से दुष्कर्म के मामले में श्रीनगर से गिरफ्तार कर लाए गए प्यारे मियां का श्रीनगर के हबीब नाम के व्यक्ति से पुराना संबंध है। प्यारे मियां श्रीनगर में हबीब के माध्यम से ही शिकारा या होटल की बुकिंग करता था। हबीब वहां कमीशन पर पर्यटकों के लिए ठहरने का इंतजाम करता है। उधर, रिमांड पर चल रहे प्यारे मियां से रविवार को स्वास्थ्यगत कारणों से पुलिस ने पूछताछ नहीं की। भोपाल के अंशल अपार्टमेंट निवासी पत्रकार प्यारे मियां को पुलिस 17 जुलाई को श्रीनगर से भोपाल लाई थी। वह 22 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर है।


अभी तक की पूछताछ में उसकी 46 संपत्तियों के बारे में पुलिस को पता चला है। उसके दुबई, श्रीनगर आदि जगह की कई बार यात्रा करने के भी साक्ष्य मिले हैं। श्रीनगर और दुबई जाने के बारे में प्यारे मियां का जवाब रहता है कि वह घूमने का शौकीन है। इस वजह से विदेश जाता रहता था। पुलिस उसके विदेश में संपर्कों की तलाश कर रही है। पुलिस अधीक्षक साईं कृष्ण थोटा ने बताया कि प्यारे मियां श्रीनगर जाता रहा है। उसका परिचय किसी हबीब नाम के एजेंट से होने की बात पता चली है। प्यारे मियां हबीब के माध्यम से शिकारा या होटल आदि में कमरे बुक कराता था, जिसका उसे कमीशन मिल जाता था।


गौरतलब है कि प्यारे मियां के खिलाफ कोहेफिजा थाने में भी दुष्कर्म का एक केस दर्ज है। यहां प्यारे मियां, राबिया बी और उवेश के खिलाफ किशोरी से दुष्कर्म के मामले में आरोपित बनाए गए हैं। इसके अतिरिक्त श्यामला हिल्स थाने में भी एक केस दर्ज है। शाहपुरा पुलिस द्वारा अदालत से ली गई प्यारे मियां की रिमांड की अवधि पूरी होने के बाद कोहेफिजा और श्यामला हिल्स पुलिस अदालत से उसे रिमांड पर देने की मांग करेगी।  11 जुलाई की रात को शाहपुरा स्थित विष्णु हाईटेक सिटी के एक फ्लैट में एक किशोरी के साथ दुष्कर्म किया गया था। साथ ही एक अन्य किशोरी के साथ दुष्कर्म की कोशिश की गई थी। इस मामले में शाहपुरा पुलिस ने आरोपित प्यारे मियां और स्वीटी विश्वकर्मा को गिरफ्तार किया है।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक