प्रधानमंत्री से आग्रह - फिल्मों को ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ करने से रोकें

मुंबई। एकल स्क्रीन और मल्टीप्लेक्सेज के फिर से खुलने के लंबे इंतजार के बीच इस्टर्न इंडिया मोशन पिक्चर्स एसोसिएशन के कुछ सदस्यों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया है कि वे निर्माताओं को थियेटर में रिलीज के लिये बनी फिल्मों को ओटीटी प्लेटफॉर्म पर  जारी करने से रोकें।


प्रधानमंत्री को लिखे एक पत्र में एसोसिएशन के प्रदर्शक वर्ग ने कहा कि निर्माताओं को अपनी फिल्मों को ओवर द टॉप (ओटीटी) साइटों पर जारी करने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए क्योंकि इससे सिनेमा हॉल मालिकों की आर्थिक दुश्वारियां और बढ़ जाएंगी। कोविड-19 महामारी के कारण देश में सिनेमा हॉल मार्च के मध्य से ही बंद हैं। फिल्म उद्योग के सूत्रों के मुताबिक कई निर्माता अपनी फिल्में ओटीटी मंचों पर रिलीज करने की तैयारी कर रहे हैं। प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा गया, “व्यक्तिगत फायदे के लिये कुछ निर्माता अपनी फिल्मों को विदेशी ओटीटी मंचों पर रिलीज कर रहे हैं…यह पूरे फिल्म उद्योग के लिये एक खतरा है।” 



कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन चल रहा है और फिल्म की शूटिंग्स और सिनेमाघर बंद हैं। ऐसे में कई बड़ी फिल्मों को ओटीटी प्लैटफॉर्म पर रिलीज करने की बात चल रही है। हाल ही खबर आई है कि होरर कॉमेडी जून में ओटीटी पर रिलीज होने के लिए तैयार है। अक्षय कुमार और फिल्म के निर्माताओं ने 'लक्ष्मी बम' के डिजिटल प्रीमियर का फैसला किया है। इन लोगों की पिछले तीन सप्ताह से ओटीटी प्लैटफॉर्म के अधिकारियों से बात चल रही थी। सूत्रों के अनुसार, फिल्म जगत से जुड़े लोगों का मानना है कि सिनेमाघर सिंतबर से पहले खुलने के आसार नहीं हैं। ऐसे में बड़े बजट की फिल्मों को रोकने से नुकसान होगा।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक