लाश की तस्वीर लेने वालों को पुलिस ने ऐसे किया शर्मिंदा

नई दिल्ली। जर्मनी के बवेरिया में एक पुलिस वाले में हाइवे पर एक घातक दुर्घटना की तस्वीर लेने वालों को समझाने के लिए अनोखा तरीका अपनाया।  प्रांत के गृह मंत्री ने पुलिसकर्मी के संवेदनापूर्ण बर्ताव की तारीफ की है। रास्ते में दुर्घटना हो जाए तो बहुत से लोग मदद करने या एंबुलेंस बुलाने के बदले तस्वीरें खींचने लग जाते हैं। जर्मनी में ऐसे में पुलिस क्या करती है इसका वीडियो वायरल हो रहा है। बवेरिया में न्यूरेमबर्ग के हाईवे पर एक दुर्घटना में एक मौत भी हुई।  हाईवे की दूसरी ओर से गुजरने वाले कुछ गाड़ी वाले उसकी तस्वीर ले रहे थे. इसकी वजह से हाइवे पर जाम भी हो गया।  जर्मनी में दुर्घटना की अनधिकृत तस्वीर लेने पर जुर्माना है, लेकिन जुर्माना मांगने से पहले वहां तैनात पुलिसकर्मी ने उन लोगों को इस तरह इस मुद्दे से रूबरू  कराया। (देखें, वीडिओ -


 



वायरल हो रहे वीडियो के अनुसार निकटवर्ती ट्रांसपोर्ट पुलिस स्टेशन के प्रमुख श्टेफान फाइफर ने कई ड्राइवरों से दुर्घटनाग्रसस्त ट्रक के मृत ड्राइवर के पास जाने और उनके साथ फोटो खिंचवाने की पेशकश की। गाड़ी में बैठे एक व्यक्ति से वे कहते हुए दिख रहे हैं कि क्या आप एक मृत व्यक्ति के साथ फोटो खिंचवाना चाहते हैं? पुलिस प्रवक्ता के अनुसार फाइफर किसी को भी मृतक की लाश नहीं दिखाना चाहते थे, बल्कि उनसे फाइन लेने से पहले उन्हें उनके बर्ताव पर शर्मिंदा करवाना चाहते थे।  फाइफर के इस व्यवहार पर कोई अनुशासनात्मक कार्वाई नहीं होगी। पुलिस प्रवक्ता के अनुसार उनका व्यवहार अपराध की किसी क्षेणी में नहीं आता, लेकिन उन्होंने ये भी कहा कि यह व्यवहार कोई आम पुलिसिया व्यवहार नहीं है। 


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!