अमिताभ बच्चन की आवाज में एक और कोरोना गीत "गुजर जाएगा"

 

जयपुर। कोरोना महामारी के समय निराशा भरे निराशा भरे माहौल में लोगों को एक आशा की किरण देता गीत " गुजर जाएगा" लोगों में फिर से एक स्फूर्ति, नई ऊर्जा और आत्मविश्वास भरने की कोशिश में एक छोटा सा प्रयास है। मायानगरी के कलाकारों ने इस तरह के सकारात्मक ऊर्जा और संदेश देने वाले गीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई  है। इसमें इंडस्ट्री के 80 से अधिक कलाकार शामिल हैं, जिनमे कपिल शर्मा से लेकर  सनी लियोनी तक हैं। 'गुजर जाएगा' इस वीडियो के जरिए एक बार फिर फिल्म हस्तियों ने सुनहरे भविष्य की कामना की है और कहा है कि यह वक्त ही तो है जो गुजर जाएगा।



अमिताभ की आवाज में यह संदेश और भी उभरकर सामने आता है। देशवासियों को इस माहौल में प्रेरित करने के लिए यह संदेश प्रधान वीडियो बेहद ही जरूरी है। इन संदेशों के जरिए फिल्मी हस्तियों ने लोगों से इस माहौल में अपना आत्मविश्वास बनाए रखने और सकारात्मक सोच को बढ़ावा देने की अपील की है।

 

इस गीत में शुरुआती आवाज अमिताभ बच्चन की है। इस गीत में सोनू सूद, मनोज वाजपेयी, पुलकित सम्राट, सनी लियोनी, रिचा चड्ढा, कपिल शर्मा, एकता कपूर और रवीना टंडन सहित कई कलाकारों ने  अपना सहयोग दिया है। साथ ही खेल जगत से सानिया मिर्जा, महेश भूपति, युवराज सिंह, हरभजन सिंह, बबीता फोगाट, विजेंद्र सिंह और दीपा मलिक जैसे खिलाड़ी भी इस गीत में अमिताभ बच्चन का साथ देते नज़र आ रहे हैं। अमिताभ  ने गीत की शुरुआत एक काव्य पाठ से की है, इसके बाद फिल्म नगरी के कई मशहूर गायक जैसे अनूप जलोटा, सोनू निगम, शान, हंसराज हंस, कैलाश खेर, श्रेया घोषाल, जावेद अली और बाबुल सुप्रियो ने अपनी आवाज से इस गीत को सजाया है। इस वीडियो गीत की खास बात यह है कि इसमें ना सिर्फ अमिताभ बच्चन बल्कि बॉलीवुड के अन्य कलाकारों और गायकों को भी स्क्रीन पर दिखाया गया है। सिद्धांत कौशल ने इस गीत के बोल लिखे हैं।

गौरतलब है कि यह ऐसा पहला प्रयास नहीं है बल्कि कोरोना वारियर्स की हौसला अफजाई और वायरस के खिलाफ "मुस्कुराएगा इंडिया" जैसा गीत पहले भी आ चुका है, जिसमें खुद अमिताभ बच्चन समेत कई कलाकार नजर आए थे। वहीं शंकर महादेवन ने भी कोरोना वारियर्स की हौसला अफजाई के लिए गाने "दिल चाहता है" को रीक्रिएट भी किया था। इस गीत को यहाँ सुना जा सकता है - https://youtu.be/LEOC_8SfQxQ

Popular posts from this blog

मौत दबे पाँव आई और लियाक़त अली भट्टी को अपने साथ ले गई !

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

कोरोना की चपेट में आए वरिष्ठ पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ के निधन से मीडियाकर्मियों में हड़कंप