1 दिन में 300 करोड़ की शराब, लोगों ने लुटा दिया कुबेर का खजाना

 

जयपुर। लॉकडाउन के कारण देशभर में केंद्र सरकार ने शराबबंदी कर रखी थी। करीब 40 दिन बाद सरकार के शराब की दुकानें खोलने के आदेश ने जैसे राज्य सरकारों के लिए कुबेर के खजाने का कोई मार्ग खोल दिया हो। यूपी में हाल ही में शराब की दुकानें खुलने की छूट मिलते ही शराब ठेकेदारों ने मात्र 1 दिन में ही 300 करोड़ की शराब बेच डाली और  खरीददारों ने आगे कई दिनों का स्टॉक खरीद कर रख लिया, जिसके चलते यूपी सरकार को 300 करोड़ के राजस्व की कमाई हुई तो राजस्थान में मात्र 2 घंटे में 59 करोड़, कर्नाटक में 45 करोड़ तो छत्तीसगढ़ में भी ₹35 करोड़ की शराब 1 दिन में खरीदने का रिकॉर्ड बना। जानकारों के अनुसार शराब की इतनी खरीदारी तो  शादियों के सीजन में भी नहीं होती।


क्या कहते हैं आबकारी विभाग के आंकड़े?

अगर विभागीय आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो पता चलता है कि देश के 5 बड़े राज्यों में राजस्व का एक बड़ा हिस्सा आबकारी विभाग से प्राप्त होता है। और यही पैसा प्रदेश के विभिन्न विकास कार्य में लगाया जाता है। एक नजर डालें तो महाराष्ट्र सरकार को हर महीने आबकारी विभाग से करीब 2000 करोड़ का राजस्व मिलता है। वहीं सर्वाधिक उत्तर प्रदेश सरकार को करीब 2166 करोड़,  तीसरे नंबर पर मध्य प्रदेश को 833 करोड, चौथे नंबर पर राजस्थान को 650 करोड़ और पांचवें नंबर पर दिल्ली सरकार को हर महीने आबकारी विभाग से 500 करोड़ का राजस्व प्राप्त होता है।


शराब की दुकानें खोलने के पीछे यह भी तर्क 

कुछ विशेषज्ञों की माने तो उनके अनुसार शराब की दुकानें बंद करने से मुनाफाखोरों को कई गुना फायदा हो रहा है। मुनाफाखोर दोगुने से भी अधिक दामों पर शराब बेचकर कालाबाजारी कर रहे हैं, इससे सरकारों को करोड़ों के राजस्व का नुकसान पिछले 40 दिनों में उठाना पड़ा।  सरकारों को पिछले 40 दिनों में 27000 करोड़ के राजस्व का नुकसान हुआ, ऐसे में कालाबाजारी बंद करने और सरकार का राजस्व बढ़ाने के लिए शराब की दुकानें खोलना  आवश्यक हो गया था। 

 

हरियाणा और दिल्ली सरकार ने की अनूठी पहल

हरियाणा सरकार ने शराब की दुकानें खोलने के साथ साथ सुरा प्रेमियों से कोविड 19 से वसूली की बात कही है।  जानकारों के अनुसार हरियाणा सरकार प्रति बोतल ₹2 से लेकर ₹20 तक कोविड 19 टैक्स के रूप में सुरा प्रेमियों से वसूलेगी जो कोरोना मरीजों के इलाज में खर्च किया जाएगा। दिल्ली सरकार ने शराब पर 70 फ़ीसदी कोरोना टैक्स लगाया है। 

 

राजस्थान में लागू होगा टोकन सिस्टम, सुरक्षाकर्मी होंगे तैनात

शराब की दुकानों पर अव्यवस्था के चलते राजस्थान सरकार ने एक ही दिन में शराब की दुकानें बंद करने का निर्णय लेते हुए अब टोकन सिस्टम के जरिए शराब की बिक्री का फैसला लिया है।  साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग की पालना के लिए सरकार अब सभी शराब की दुकानों पर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती करेगी, जो लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करवाएंगे।

 

Popular posts from this blog

‘कम्युनिकेशन टुडे’ की स्वर्ण जयंती वेबिनार में इस बार ‘खबर लहरिया’ पर चर्चा

ऑडियो-वीडियो लेखन पर हिंदी का पहला निशुल्क पाठ्यक्रम 28 जनवरी से होगा शुरू

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिये मनोरंजन उद्योग में आए बदलावों पर चर्चा के लिए वेबिनार 19 को