राम के किरदार के कारण फिल्मों में काम नहीं मिला अरुण गोविल को

मुंबई। रामानंद सागर की प्रस्तुति 80 के दशक का लोकप्रिय टीवी धारावाहिक 'रामायण' में भगवान राम का किरदार निभाने वाले अभिनेता अरुण गोविल का कहना है कि उस मेगा शो के बाद उनका करियर रुक सा गया, क्योंकि निर्माता उन्हें किसी अन्य किरदार में कास्ट नहीं करना चाहते थे। हाल ही मीडिया  के साथ बातचीत में उन्होंने कहा, “मैंने अपने करियर की शुरुआत हिंदी फिल्म में हीरो के तौर पर की थी और 'रामायण' के बाद जब मैं बॉलीवुड में वापस लौटना चाहता था, तो निर्माता कहते थे, 'आपकी राम वाली छवि काफी मजबूत है, हम आपको किसी और किरदार में कास्ट नहीं कर सकते या सहायक भूमिका नहीं दे सकते हैं'।”



अरुण गोविल ने आगे कहा, “उन्हें लगता था कि मैं कमर्शियल फिल्म में और फिट नहीं बैठ सकता। वह मेरे करियर का सबसे बड़ा माइनस प्वॉइंट बन गया और मुझे अहसास हुआ कि मैं कभी भी शोबिज में वापस नहीं लौट पाऊंगा, जैसा कि मैं चाहता था। मैंने कुछ टीवी शो किए, लेकिन हर बार मैं कुछ ऐसा कर देता था, जिस पर लोग मुझे टोक देते थे, 'अरे, रामजी! आप ये क्या कर रहे हैं!”


उन्होंने आगे कहा, “एक ओर जहां एक शो से मुझे अपार प्रेम और आदर मिला, लेकिन दूसरी ओर मेरा करियर रुक गया। बीते 14 सालों से मैंने स्पेशल अपीयरेंस के अलावा कुछ भी नहीं किया।”


Popular posts from this blog

मौत दबे पाँव आई और लियाक़त अली भट्टी को अपने साथ ले गई !

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

कोरोना की चपेट में आए वरिष्ठ पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ के निधन से मीडियाकर्मियों में हड़कंप