मीडिया कंपनियों की मदद के लिए गूगल ने कोष बनाया, 29 अप्रेल  तक मांगे आवेदन


नई दिल्ली। दिग्गज इंटरनेट कंपनी गूगल ने एलान किया है कि  कोरोना वायरस महामारी के कारण कामकाज जारी रखने को लेकर संघर्ष कर रहे स्थानीय मीडिया प्रतिष्ठानों की मदद के लिये वह आपात कोष शुरू करेगी। गूगल ने कोष की राशि का खुलासा नहीं किया लेकिन कहा कि वह छोटे मीडिया से लेकर बड़े मीडिया प्रतिष्ठानों को वित्तीय मदद देगी। अमेरिकी कंपनी ने यह घोषणा ऐसे समय की है जब आर्थिक कामकाज ठप होने और विज्ञापनों में कटौती के कारण कई मीडिया प्रतिष्ठान मुश्किल में हैं।



गूगल न्यूज के उपाध्यक्ष रिचर्ड गिंगरास ने एक बयान में कहा कि स्थानीय  खबर लोगों और समुदाय को आसपास की घटनाओं से जुड़े रहने को लेकर महत्वपूर्ण संसाधन है। उन्होंने कहा, ‘‘आज ये मीडिया प्रतिष्ठान और महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। ये लोगों को स्थानीय ‘लॉकडाउन’ (बंद), रहने के स्थान आदि के बारे में अहम सूचना दे रहे हैं।’ गिंगरास ने कहा कि इस कोष से मीडिया प्रतिष्ठान संकट के समय और बेहतर खबर लोगों तक पहुंचा सकेंगे। इसके लिये मीडिया प्रतिष्ठानों से 29 अप्रेल  तक आवेदन देने को कहा गया है।


गौरतलब है कि कोरोना वायरस का प्रकोप पूरी दुनिया पर पड़ा है। देश-दुनिया की अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है। कोरोना के असर से मीडिया भी अछूती नहीं है । आर्थिक कामकाज ठप होने और विज्ञापनों में कटौती की वजह से कई मीडिया कंपनियों की हालत बुरी हो गई है, जिसकी वजह से कई मैगजींस-अखबारों का प्रकाशन बंद हो गया है। कई कंपनियों ने तो अपने यहां से या तो छंटनी शुरू कर दी है, या फिर एम्प्लॉयीज की सैलरी कम कर दी है। ऐसे में इस महामारी से जूझ रही छोटी-बड़ी मीडिया कंपनियों की मदद के लिए गूगल सामने आया है।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक