जयपुर में सिनेमाघर बंद, 1 महीने में 12 करोड़ से अधिक का नुकसान

जयपुर। जयपुर में  सिनेमाघरों को बंद हुए एक महीने से ज्यादा का समय हो गया है और मोटे तौर पर देखें तो इस दौरान 12 करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान हुआ है।  3  मई से सिनेमाघर शुरू हो सकेंगे या नहीं, स्पष्ट नहीं है।  इस तरह सिनेमाघरों से जुड़े उद्योग के नुकसान का आंकड़ा और अधिक होने की आशंका है। 



कोरोना संकट के आते ही राजधानी के मल्टीप्लेक्स और सिनेमा हॉल बंद कर दिये गये थे।  प्रबंधकों की मानें तो राजधानी जयपुर  में सिनेमा उद्योग का हर दिन का कारोबार लगभग 35  लाख रुपये का है, जिसका नुकसान हो रहा है।  इनको बंद किये हुए एक माह से अधिक समय हो गया है। देश में सिनेमा उद्योग का प्रमुख केंद्र मुंबई कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित है और राजधानी जयपुर  लॉकडाउन की वजह से ठप है। 


ऐसी स्थिति में सिनेमा व मल्टीप्लेक्स मालिकों की हालत खराब हो रही है। बंद की अवधि का वेतन और प्रबंधन खर्च भी मुश्किल में डाल रहा है। ऐसे में सरकार से इसे शुरू करने और राहत देने की मांग मल्टीप्लेक्स प्रबंधकों ने की है।  जयपुर में प्रमुख रूप से तीन मल्टीप्लेक्स चेन हैं।  इसके अलावा कई सिनेमा हॉल संचालित हैं, जहां हर दिन 20  हजार से अधिक लोग सिनेमा देखने पहुंचते हैं।  सिनेमा उद्योग से 3  हजार से अधिक परिवारों की रोजी रोटी जुड़ी है। 


ज्ञात हो कि मार्च में कोरोना के फैलाव के बाद 12 मार्च से फिल्म इंडस्ट्री बंद है। संक्रमण फैलाव की संभावना को बताते हुए सबसे पहले इन्हें ही बंद किया गया था। सिनेमा उद्योग से जुड़े लोगों का कहना है कि आगामी हालात को देखते हुए सरकार को स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।  इन लोगों का कहना कि सरकार को बिजली बिल और जीएसटी में कटौती करनी चाहिए. मल्टीप्लेक्स के प्रबंधकों की मानें, तो लगातार बंद रहने और रख-रखाव के अभाव में डिजिटल उपकरण भी खराब होने का डर बना हुआ है। 


 


 


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!