सिर्फ 10 दिनों में 20 करोड़ से अधिक लोगों ने देखा अंग्रेज़ी वीडियो "ऑल फाइटर्स”

नई दिल्ली। हाल  के दिनों में “वी आर ऑल फाइटर्स”(हम सब योद्धा हैं) नामक एक अंग्रेज़ी वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत लोकप्रिय रहा। वीडियो के जारी होने के सिर्फ 10 दिनों में 20 करोड़ से अधिक लोगों ने इसे देखा है। अनेक सोशल मीडिया और वीचेट पब्लिक खातों ने भी इस वीडियो को फिर से जारी किया। नेटीजनों ने कहा कि वे लोग इस अंग्रेजी स्पीच से बहुत प्रभावित हुए हैं। इस स्पीच में सुन्दर भाषा और शब्द नहीं हैं, जबकि देहाती और शक्तिशाली शब्द हैं, जिसने लोगों को आकर्षित किया। इस वीडियो की संपादक दक्षिण चीन के शनजन से आयी एक सुन्दर लड़की है, जिस का नाम ल्यू च्येइ है। उन्होंने कहा कि वे आशा करती हैं कि अपने प्रयास से महामारी से जूझने वाले सभी मित्रों को विश्वास और आशा सौंपना चाहती हैं, ताकि दुनिया चीन के अथक संघर्ष करने का संकल्प सुन सके।



ल्यू च्येइ ने पत्रकार से कहा कि उन्होंने कल्पना नहीं की थी कि इतने ज्यादा लोग उस का वीडियो पसंद करेंगे। वे दुनिया को धन्यवाद देना चाहती हैं। भविष्य में वे और अधिक काम करेंगी। उन्होंने कहा कि चीनियों की कहानियों को चीनियों द्वारा सुनाया जाना चाहिए, जबकि वे उन में से एक सदस्य बनना चाहती हैं। यह ल्यू च्येइ का पहला वीडियो है, लेकिन तुरंत सोशल मीडिया पर बहुत लोकप्रिय बन गया है। इस वीडियो के नीचे हम चीनी और अंग्रेजी भाषा के कई सौ टिप्पणी देख सकते हैं। उत्तेजित, प्रभावित और विश्वास इन शब्द सब से सामान्य समीक्षाएं हैं।


विश्वविद्यालय में ल्यू च्येइ ने जापानी भाषा पढ़ी, साथ ही वह अंग्रेजी भी जानती हैं। उन्हें अंग्रेज़ी स्पीच देना पसंद है। उन्होंने यूरोपीय मुख्यालय के चीन-यूरोप युवाओं के आदान प्रदान सम्मेलन, विश्व युवा लीडर शिखर सम्मेलन आदि अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनों में स्पीच भी दी थी। अपनी रचना के बारे में ल्यू च्येइ ने कहा कि महामारी से प्रभावित होकर हाल में इतनी व्यस्त नहीं हैं। देश में निरंतर बढ़ने वाले मरीजों और महामारी के मुकाबले में भावुक कहानियों को देखकर ल्यू च्येइ के मन में एक विचार आया कि इस वक्त समाज के लिए क्या कर सकती है। उन्होंने कहा कि इसलिए अंग्रेजी भाषा में यह वीडियो बनाया कि वायरस की कोई सीमा नहीं है। यह मानव जाति के सामने मौजूद समान चुनौती है। इसलिए इस वक्त हमें अपनी आवाज़ सुनानी चाहिए।


4 मिनट के वीडियो में सिर्फ़ कथावाचक की आवाज़ सुनायी जाती है, लेकिन यह आवाज़ भारी से तीव्र होती चली गई और वीडियो में चित्र भी काले रंग से रंगीन बन गए। उन्होंने कहा कि वह आशा करती है कि यह वीडियो लोगों में विश्वास जगाएगा, ताकि मुसीबतों में फंसे लोग जल्द ही धुंध से बाहर निकल सकेंगे।


वीडियो के जारी होने के बाद अनेक विदेशी मित्रों ने उनसे संपर्क किया और उन का समर्थन किया। हालांकि उन के अनेक लोग कभी चीन नहीं आए हैं, फिर भी चीन के प्रति उन का गहरा प्यार है। ल्यू च्येइ ने कहा कि वीडियो बनाते समय दो विदेशी मित्रों ने उन की बड़ी सहायता की। बेल्जियम के रोनी नामक दोस्त ने उन पर गहरी छाप छोड़ी है। रोनी लम्बे समय से चीन में रह रहे हैं। उन्होंने एक परोपकार संगठन का गठन भी किया था। ल्यू च्येइ के वीडियो को देखने के बाद उन्होंने विभिन्न तरीकों से उनसे संपर्क किया और वीडियो को शेयर करने का इरादा प्रस्तुत किया। जिस बात ने उन्हें सबसे ज्यादा हैरान किया कि अनेक बच्चे भी उनका वीडियो पसंद करते हैं। कहा जाता है कि कई वृद्ध लोगों ने अपने पारिवारिक वीचेट सर्कस में भी वीडियो को शेयर किया। ये सब उनके लिए प्रेरणा की बात है। मुसीबतों में आशा रहती है, अपनी जाति के प्रति पूरा विश्वास है। यह सब लोगों के मन की बात है। अपने वीडियो में ल्यू च्येइ ने कहा कि हमारी जनता संभवतः बीमार हो सकती है, हमारे शहर भी बीमार हो सकते हैं, फिर भी हम बहादुर राष्ट्र है, जिसे महामारी द्वारा कभी पराजित नहीं किया जा सकता है।


बीते कई दिनों में ल्यू च्येइ बहुत व्यस्त रहीं। इस वीडियो ने ल्यू च्येइ को सिना वेइबो पर हॉट सर्च लिस्ट में शामिल किया। अनेक मीडिया संस्थाओं ने उन से संपर्क किया और साक्षात्कार किया। अनेक संगठनों और निजी व्यक्तियों ने विभिन्न तरीकों से उनसे संपर्क किया और उन का समर्थन किया। ल्यू च्येइ ने और अधिक सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर व्यक्तिगत अकाउंट खोले। उन्हें पता चला कि अनेक लोगों ने उन के वीडियो को शेयर किया। कुछ लोगों ने वीडियो को फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब जैसे विदेशी सोशल मीडिया प्लेटफार्मों में भी साझा किया।


ल्यू च्येइ की नजर में यह वीडियो इसलिए जल्द ही लोकप्रिय बना, कारण है कि वीडियो में भाषा, इंटरनेट और मानव की शक्ति अंकित हैं। पिछले कुछ सालों में ल्यू च्येइ अंग्रेजी स्पीच बहुत पसंद करती रही हैं। अब वे अंतर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक आदान प्रदान का काम करती हैं। इसलिए उन्हें पता है कि कैसे सरल और आम भाषा से लोगों को प्रेरणा की शक्ति दी जाए। इंटरनेट के जरिए ल्यू च्येइ को अनेक अच्छी कहानियां मिली। कुछ मां-बाप ने उन्हें वीडियो भेजा, जिस में उन के बच्चे उनके स्पीच का अनुसरण कर रहे हैं। उनके इस वीडियो ने कुछ अंग्रेजी अध्यापकों का पढ़ाई वीडियो भी बनाया है।


दुनिया को चीन की आवाज सुनाना ल्यू च्येइ के इस वीडियो बनाने का मकसद है। ल्यू के मुताबिक अंग्रेजी भाषा विश्व में प्रचलित है। चीन के अंतर्राष्ट्रीय स्थान की उन्नति होने के साथ हमें दुनिया को अपनी कहानियां अच्छी तरह सुनाना और सीखना चाहिए। हम क्यों विदेशी भाषा सीखते हैं। उनके विचार में एक अहम कारण है कि विश्व को उनके के बारे में जानकारी देना है, ताकि चीन के खिलाफ गलतफहमियों व भेदभावों को मिटा सके। यह भविष्य में उनका मिशन ही है।


 


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक