लॉकडाउन की पाबंदियों को मीडिया के संचालन और वितरण से दूर रखने के निर्देश

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने देशभर में लॉकडाउन की पाबंदियों को मीडिया के संचालन और वितरण से दूर रखने के निर्देश दिए हैं। सूचना प्रसारण मंत्रालय ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को भेजे अपने दिशा-निर्देश में कहा है कि समाचारपत्रों, इलेक्ट्रानिक मीडिया और समाचार एजेंसियों की समय पर तथ्यपरक सूचनाएं देना इस समय बेहद अहम है। कोरोना वायरस संकट की मौजूदा चुनौती में मीडिया संगठनों की ताजातरीन अपडेट जागरूकता के लिहाज से ही अहम नहीं बल्कि गलत और फेक न्यूज पर काबू करने के लिए भी आवश्यक है। मंत्रालय के अनुसार ऐसे समय में अच्छी प्रैक्टिस को प्रोत्साहित किया जाना जरूरी है। प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया को ऐसे ही प्रोत्साहन की जरूरत है।  



कोरोना वायरस संकट से निपटने में मीडिया की अहम भूमिका को देखते हुए सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा है कि वे प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया का निर्बाध संचालन सुनिश्चित करें। कोरोना के संकट में सामयिक और तथ्यपरक रिपोर्ट के साथ जन जागरूकता में अखबारों व दूसरे समाचार माध्यमों के अहम रोल को रेखांकित करते हुए केंद्र ने निर्बाध तरीके से इनके आपरेशन को जरूरी बताया है।


राज्य सरकारों से लॉकडाउन या कर्फ्यू की पाबंदियों की वजह से मीडिया संगठनों के संचालन और वितरण में होने वाली दिक्कतों को भी दूर करने का अनुरोध किया गया है। सूचना प्रसारण मंत्रालय ने कहा है कि मीडिया संगठनों की सेवाएं प्रभावित न हों इसका ख्याल रखते हुए बिजली आपूर्ति से लेकर अन्य आवश्यक जरूरी सेवाएं मुहैया कराया जाना चाहिए। केबल और डिश टीवी, एफएम रेडियो और सामुदायिक रेडियो सेवाओं को भी इसमें शामिल करने के लिए भी कहा गया है। समाचारपत्रों के वितरण में पाबंदियों के कारण होने वाली दिक्कतों को देखते हुए राज्यों से वितरण में हो रही दिक्कतों का समाधान निकालने के लिए भी कहा गया है।


 


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक