कोरोना वायरस के कारण फिल्म इंडस्ट्री पर बढ़ा क़र्ज़ का बोझ 

 


मुंबई। कोरोना के कहर से फिल्म इंडस्ट्री गहरे संकट में नज़र आ रही ​ है। हजारों करोड़ों रुपए फिल्म इंडस्ट्री में प्रोड्यूसर-डायरेक्टर और फायनेंसरों का लगा हुआ है। ऐसे में इस वायरस के डर के कारण न ही बाजार में कोई नई फिल्म रिलीज हो रही है न ही अब नई फिल्मों में डायरेक्टर और प्रोड्यूसर कोई रुचि दिखा रहे हैं। पहले ही करोड़ों रुपए बाजार में फंसे होने से इंडस्ट्री पर कर्ज का बोझ बढ़ता जा रहा है। कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर की फिल्म इंडस्ट्री को 500 करोड़ डॉलर के घाटे का सामना करना पड़ रहा है।



पिछले कुछ सालों में चीन की वजह से भारतीय फिल्म इंडस्ट्री को काफी फायदा मिला है और भारत की फिल्में चीन में अच्छा प्रदर्शन करते हुए अच्छा कलेक्शन कर रही हैं। चीन भारतीय फिल्म कंटेट के लिए सबसे बड़ा इंटरनेशनल मार्केट बन गया है। क्योंकि भारतीय फिल्मों के करीब 2000 करोड़ के कारोबार में चीन का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। पिछले कुछ वर्षों में चीन में भारतीय फिल्मों की रिलीज संख्या 2 से बढ़कर 10 तक पहुंच गई थी जो कि बॉलीवुड के लिए अच्छे संकेत थे लेकिन हाल ही में कोरोना के आतंक से परेशान चीन में करीब 70हजार थियेटर बंद होने के कारण फिल्मों की रिलीज नहीं होने से कलेक्शन पर बहुत बड़ा असर पड़ा है।


वायरस का कहर बॉलीवुड इंडस्ट्री पर काफी तेजी से फैल रहा है। वायरस के चलते महाराष्ट्र के 5 बड़े शहरों  में सिनेमाघर बंद कर दिए गए हैं। इसके अलावा बिहार, मध्यप्रदेश, दिल्ली,राजस्थान समेत देश के कई राज्यों में कोरोना का असर सिनेमा घरों पर देखने को मिल रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक बंदी के कारण हर हफ्ते फिल्म उद्योग में करीब 50 करोड़ का घाटा होगा। बॉलीवुड में शूटिंग से लेकर फिल्मों के प्रमोशन के लिए यात्राएं भी बंद कर दी हैं। अभिनेता और अभिनेत्रियों ने फिलहाल प्रमोशन से दूरी बना ली है। अक्षय कुमार की फिल्म “पृथ्वीराज”, कार्तिक आर्यन की फिल्म “भूल-भुलैया”, रणवीर सिंह की “जयेश भाई”, अर्जुन कपूर की “संदीप और पिंकी फरार, शाहिद कपूर की “जर्सी” सहित कई अन्य फिल्मों पर काम रुक गया है। इतना ही नहीं कई सितारों ने अपनी विदेश यात्राएं टाल दी हैं।


Popular posts from this blog

मौत दबे पाँव आई और लियाक़त अली भट्टी को अपने साथ ले गई !

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

कोरोना की चपेट में आए वरिष्ठ पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ के निधन से मीडियाकर्मियों में हड़कंप