52 साल बाद पहली बार स्थगित हुआ कान्स फिल्म फेस्टिवल, बाफ्टा भी टला

मुंबई।  फ्रांस में चल रहे लॉकडाउन के  कारण इस बार प्रतिष्ठित कान्स फिल्म फेस्टिवल को भी स्थगित करने का एलान किया गया है।  कान्स फिल्म फेस्टिवल के इतिहास में यह दूसरा अवसर है जब इसे निर्धारित तारीखों पर आयोजित नहीं किया जा रहा है।  इससे पहले आखिरी बार 1968 में फ्रांस में हुए छात्र आंदोलन के कारण कान्स फिल्म फेस्टिवल को कैंसिल किया गया था। कान्स फिल्म फेस्टिवल की शुरूआत 1946 में हुई और हर साल सिने प्रेमी इस फेस्टिवल का इंतज़ार  करते हैं। 



इस बार कोरनावायरस के कारण इसे आगे खिसका दिया गया है। फ्रांस में चल रहे लॉकडाउन के बाद यह फैसला किया  गया। साथ ही 16 अप्रैल को होने जा रही फेस्टिवल की प्रेस कॉन्फ्रेंस को भी टाल दिया गया था। अब इस फेस्टिवल का आयोजन जून या जुलाई में हो सकता है। आयोजकों ने स्टेटमेंट में कहा कि, दुनियाभर में जारी महामारी के इस समय में हम उन कोविड-19 से लड़ रहे लोगों के साथ हैं। आज हम सभी ने 12 मई से लेकर 13 मई तक होने जा रहे फिल्म फेस्टिवल को पोस्टपोन करने का फैसला लिया है।


बाफ्टा का आयोजन भी टला: कोरोनावायरस के कारण एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के कई बड़े इवेंट्स कैंसिल हो गए हैं। ब्रिटिश एकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन अवॉर्ड्स (बाफ्टा) ने कोरोनावायरस के चलते दो टीवी अवॉर्ड्स को स्थगित कर दिया है। पहले 26 अप्रैल को टेलीविजन क्राफ्ट अवॉर्ड्स और 17 मई को टीवी अवॉर्ड्स होने थे। बाफ्टा ने 26 मार्च को होने जा रहे नॉमिनेशन को  भी पोस्टपोन कर दिया है। संस्था की वेबसाइट के मुताबिक आगामी हफ्तों में नई तारीखों का ऐलान किया जा सकता है।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक