दूरसंचार विभाग  की 5जी हैकथॉन शुरू, इंडिया मोबाइल कांग्रेस में होगा समापन 

 


नई दिल्ली।  5जी व्यवस्था के अंतर्गत भारत के लिए प्रासंगिक एप्लीकेशन्स  की पहचान करने और उन्हें बढ़ावा देने के अपने प्रयासों के तहत दूरसंचार विभाग (डीओटी) ने अनेक सरकारी, अकादमिक और उद्योग जगत से जुड़े हितधारकों के सहयोग से 5जी हैकाथॉन का शुभारंभ किया। 5जी उत्पादों और समाधानों में परिवर्तित किए जा सकने वाले भारत के केन्द्रित अत्याधुनिक विचारों का चयन करने के लक्ष्य के साथ 21 फरवरी  से प्रारंभ हुए हैकाथॉन में तीन चरण होंगे और इसका समापन 16 अक्तूबर, 2020 को इंडिया मोबाइल कांग्रेस के भव्य सत्कार समारोह में होगा।



विभिन्न चरणों के विजेता 2.5 करोड़ रुपये की कुल इनाम राशि को साझा करेंगे और उन्हें दूरसंचार विभाग, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय और अनेक प्रमुख उद्योग जगत, अकादमिक, दूरसंचार कंपनियों/ओईएम की सहायता से अपने 5जी अनुप्रयोगों को बाजार में उतारने के लिए तैयार करने हेतु उनका दायरा बढ़ाने और लागू करने का अनूठा अवसर प्राप्त होगा। 5जी प्रौद्योगिकी, गति, पीक डाटा रेट, अंतर्निहितता, स्पेक्ट्रम दक्षता और संपर्क घनत्व के संदर्भ में 4जी की तुलना में लंबी छलांग साबित होगी। इसकी सबसे महत्वपूर्ण विशेषता विभिन्न इक्नोमिक वर्टिकल्स में इसका अनुप्रयोग है।


5G हैकथॉन में डेवलपर्स, छात्र, स्टार्ट-अप, एसएमई, शैक्षणिक संस्थानों तथा भारत में  पंजीकृत कंपनियां और प्रवासी भारतीय भाग ले सकते हैं। हितधारक व्यक्तिगत स्तर पर या एक टीम के रूप में भाग लेकर  भारतीय संदर्भ में 5जी नेटवर्क के लिए यूज केसेज प्रस्तुत कर सकते हैं। प्रस्तुतियों को चयन करने और उनका आकलन करने के लिए शिक्षाविदों, प्रमुख उद्योगपतियों और इस विषय से संबंधित देश भर के विशेषज्ञों को शामिल करते हुए एक जूरी की स्थापना की जाएगी। हैकाथॉन का विवरण www.5ghackathon.in वेबसाइट पर देखा जा सकता है।


 


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक