जे एल एफ से ठीक पहले जयपुर बुकमार्क की शुरुआत 

जयपुर।  हर बार  जनवरी में  जब पूरी दुनिया जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में शब्दों का जश्न मनाने आती है, तब फेस्टिवल के समानांतर चलने वाले जयपुर बुकमार्क में प्रकाशन के दिग्गज इकट्ठा होते हैं| जयपुर बुकमार्क, वेयर बुक्स मीन बिजनेस, लेखकों, साहित्यिक एजेंट्स, अनुवादकों, प्रकाशकों, डिजाइनर, मार्किट के लोगों, पब्लिसिस्ट, बुकसेलर्स और फेस्टिवल के ऑर्गनाइजर्स के साथ मिलकर प्रकाशन के नए विचारों पर अमल करता है| ये ऐसा प्लेटफार्म है, जहाँ किताबों के व्यावसायिक पहलु पर विचार किया जाता है, इस मंच पर अनुवाद के अधिकारों की भी अदला-बदली होती है, जो हमेशा से जेबीएम का फोकस रहा है|


जयपुर बुकमार्क के 7वें संस्करण का उद्घाटन बुधवार को किया गया। इसका आयोजन 25 जनवरी तक  किया जायेगा|



उद्घाटन संबोधन नोर्वे के राजदूत हेंस जैकब फ्राईडेनले ने दिया| उद्घाटन के समय नीता गुप्ता, नमिता गोखले और संजॉय के.रॉय मौजूद रहे| इसके बाद जाने-माने लेखक और प्रकाशक, हेन्सेर पब्लिशिंग ग्रुप के एडिटर यो लेंडल उद्घाटन संभाषण दिया| उनका परिचय नवीन किशोर ने कराया| द रोरिंग ट्वेंटीज शीर्षक से उनके संभाषण में आने वाले दशक में प्रकाशन की चुनौतियों का असर दिखा| जयपुर बुकमार्क के इससे पूर्व के संस्करणों में भी, बहुत से प्रसिद्ध लेखक और प्रकाशक उद्घाटन संभाषण दे चुके हैं, जिनमें रोबर्तो क्लासो; फ्रेंकफर्ट बुक फेयर के सीईओ, जुएर्गन बूज; सीगल बुक्स के नवीन किशोर और अन्य शामिल रहे| इस संस्करण में यो लेंडल, नवीन किशोर, उर्वशी बुटालिया, वेरा मिचल्सकी, माइकल डायर, निको फंड, अतिया ज़ैदी, ऋचा झा जैसे प्रकाशक और आर्सेन कश्कशियाँ, जेफ़ डच, प्रियंका मल्होत्रा, मैना भगत और रिक साइमनसन जैसे बुकसेलर्स शामिल रहेंगे|


नमिता गोखले, जयपुर बुकमार्क की सह-निदेशक ने कहा, “जयपुर बुकमार्क पब्लिशिंग के मूल आदर्शों को जीता है| हम अपने आई राइट प्रोग्राम द्वारा रचनात्मकता का पोषण करते हैं, अनुवाद पर फोकस कर किताबों की बदलती दुनिया को जानने की कोशिश करते हैं| इसके 7वें संस्करण के लिए मैं विशेष रूप से उत्साहित हूं|”


जयपुर बुकमार्क 2020 में पब्लिशिंग से जुड़े कई सत्र हैं, जैसे द हार्ट ऑफ़ ए बुकस्टोर, जिसमें दुनियाभर के आइकोनिक बुकसेलर्स ने अपने व्यवसाय और उससे मिली सीख के बारे में बात की; द बिग बुक बॉक्स फॉर किड्स में लेखक, प्रकाशक और पुस्तकविक्रेता बच्चों की किताबों की चुनौतियाँ और अपनी मार्केटिंग रणनीति पर भी चर्चा की; ट्रांसलेशन एज इंटिमेसी में सुनंदिनी बनर्जी और अरुनाव सिन्हा ने अनुवादक के तौर पर एक-दूसरे का सामना किया; फ़ूड फॉर थॉट: गैसट्रोनोमी एंड लिटरेचर में प्रतिभाशाली फ़ूड राइटर फ़ूड रेसेपी और साहित्य पर चर्चा करेंगे; और कंज्यूमर इंटेलिजेंस: हू’स रीडिंग वाट में प्रकाशक और लेखक बिग डाटा से कैसे किताब खरीदने वालों की मनोस्थिति को जाना जा सकता है|


नीता गुप्ता, जयपुर बुकमार्क की सह-निदेशक ने कहा, “जयपुर बुकमार्क के सातवें संस्करण में अनुवाद हमारी प्राथमिकता है| इसके सत्र बॉर्डर से परे साहित्य, अनुवाद पर आधारित हैं| हम नोर्वे के नाटककार इब्सेन के नाटकों के हिंदी अनुवाद का भी लोकार्पण कर रहे हैं| हम अनुवाद के लिए दिए जाने वाले दो अवार्ड की भी घोषणा करेंगे, वाणी फाउंडेशन डिस्टिंगुइश्ड ट्रांसलेटर अवार्ड और रोमां रोलां प्राइज|”


पब्लिशिंग बिजनेस की नब्ज को पकड़ते हुए, जयपुर बुकमार्क हमेशा उन सत्रों को प्रस्तुत करता है, जिसमें साहित्य जगत से जुड़े समकालीन और जटिल मुद्दों को उठाया जाये| टुवर्ड्स ए बॉर्डरलेस लिटरेचर सत्र में देश की सीमाओं से परे अनुवाद की महत्ता पर बात होगी; द चेंजिंग फेस ऑफ़ डिजिटल नैरेटिव्स डिजिटल नैरेटिव के बदलती हुई संभावनाओं पर बात करेगा; लाइब्रेरीज एज कम्युनिटीज में लाइब्रेरी और समुदाय के जटिल संबंधों पर चर्चा होगी; व्हाई पब्लिशिंग पोएट्री इज इम्पोर्टेन्ट समर्पित प्रकाशकों को एक साथ लाकर प्रकाशन में काव्य की महत्ता पर बात करेगा; और ए टेक्स्टबुक केस फॉर डाइवर्सिटी में पाठ्य पुस्तकों में बहु-संस्कृति के संतुलन पर बात होगी|


वर्ष 2020 में, एक बार फिर से नोर्विजियाई एम्बेसी जयपुर बुकमार्क के साथ भागीदारी कर रही है| ये उनकी साझेदारी का 7वां साल है| सीगल बुक्स के नवीन किशोर फेस्टिवल से सलाहकार और सपोर्टर के रूप में जुड़े हैं| सीगल बुक्स कोलकाता अकेले भारतीय लेखकों को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर प्रस्तुत कर रहा है, जिसमें नोबेल प्राइज विजेता भी शामिल हैं| फ्रेंच इंस्टिट्यूट इन इंडिया भी जेबीएम 2020 में फ्रेंच पब्लिशिंग इंडस्ट्री के प्रतिनिधि भेजेगा|



“भारत की पब्लिशिंग इंडस्ट्री तेजी से बढ़ी है और पूरी दुनिया की नजरें अब इस पर टिकी हैं,” ये कहना है संजॉय के.रॉय, टीमवर्क आर्ट्स के मैनेजिंग डायरेक्टर और जयपुर बुकमार्क के प्रोडूसर का|


जयपुर बुकमार्क 2020 में तीन प्रमुख अवार्ड्स की घोषणा की जाएगी – द वाणी फाउंडेशन डिस्टिंगूइश्ड ट्रांसलेटर अवार्ड, रोमां रोला प्राइज और द ऑक्सफ़ोर्ड बुकस्टोर बुक कवर प्राइज|


जयपुर बुकमार्क वर्ष 2014 से जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के समानांतर चल रहा है| अपने 7 वर्षों के कार्यकाल में, जेबीएम किताबों की बिजनेस में, साउथ एशियन पब्लिशिंग इंडस्ट्री के मुख्य स्तम्भ के रूप में उभरा है|                   


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!