सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने इस साल पहली बार आयोजित किया मीडिया इकाइयों का वार्षिक सम्मेलन

जयपुर। अब जबकि साल 2019 ख़त्म होने को है, ऐसे में सूचना-प्रसारण मंत्रालय के वर्ष भर के कामकाज पर अगर नज़र डालें तो मंत्रालय की अनेक उपलब्धियां सामने आती हैं, हालांकि मंत्रालय ने अपना ज्यादातर समय सरकारी नीतियों के प्रचार-प्रसार में ही खर्च किया। मंत्रालय ने सरकार द्वारा की गई सभी महत्वपूर्ण गतिविधियों बारे में जनता को सहज, पारदर्शी और सटीक जानकारी देने के लिए वर्ष 2019 में अनेक पहल की।


सूचना और प्रसारण मंत्रालय के तहत काम करने वाली मीडिया इकाइयों का पहला वार्षिक सम्मेलन नई दिल्ली में आयोजित किया गया। सम्मेलन के दौरान, मीडिया इकाइयों के प्रदर्शन की समीक्षा की गई। सम्मेलन का केन्‍द्र बिन्‍दु  मीडिया इकाइयों के बीच उनके दैनिक कामकाज में तालमेल सुनिश्चित करना था। सम्मेलन के दौरान संचार के लिए आधुनिक तकनीकी साधनों का उपयोग करने पर भी चर्चा हुई।



इस साल मंत्रालय की और भी महत्वपूर्ण उपलब्धियां रहीं।  दूरदर्शन पर “रग रग में गंगा” और क्विज़ शो “मेरी गंगा” का यात्रा वृतांत कार्यक्रम शुरू किया गया। दूरदर्शन ने राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) के सहयोग से यात्रा वृतांत श्रृंखला “रग रग में गंगा” बनाई है। यह शो गंगा नदी को फिर से जीवंत करने की आवश्यकता का संदेश देता है, साथ ही गंगा को स्वच्छ करने के लिए सरकार के प्रयासों की भी जानकारी देता है - जिसे एक अनोखे और रोचक प्रारूप में प्रस्तुत किया गया है। डीडी ने देश के सभी क्षेत्रों के स्कूली बच्चों को शामिल करने और उनमें गंगा सफाई के कारण को महसूस करने के लिए जिज्ञासा उत्पन्न करने के प्रयास में एनएमसीजी के सहयोग से क्विज़ शो 'मेरी गंगा' भी तैयार किया है।


निजी एफएम रेडियो ब्रॉडकास्‍टरों को कुछ नियम और शर्तों को ध्‍यान में रखते हुए समाचार अनुसूची  में दिए गए बुलेटिनों की सूची के अनुसार, आकाशवाणी (एआईआर ) समाचार के अंग्रेजी/ हिंदी में प्रसारित बुलेटिन का प्रसारण करने की अनुमति दी गई।


• प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने दूरदर्शन के अनुप्रभा चैनल की 9 फरवरी, 2019 को शुरूआत की जो अरुणाचल प्रदेश के लिए 24x7 समर्पित उपग्रह चैनल है।


डीडी फ्री डिश के माध्यम से भारत के सेटलाइट फुटप्रिंट पर 11 और राज्यों के डीडी चैनल लाए गए। यह पहला मौका है जब डीडी फ्री डिश के माध्यम से छत्तीसगढ़, गोवा, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, त्रिपुरा और उत्तराखंड राज्यों को एक सेटलाइट नेटवर्क पर अपना डीडी चैनल मिला है।


• जम्मू-कश्मीर में दूरदर्शन के मुफ्त डिश सेट टॉप बॉक्स वितरित किए गए,सूचना, शिक्षा और मनोरंजन के संदेश का प्रचार करने के लिए सीमावर्ती इलाकों में जनता तक पहुंचने के प्रयास में डीडी कशीर से आधे घंटे के डोगरी कार्यक्रम और समाचार बुलेटिन की शुरूआत करने के अलावा चैनल की सिगनेचर ट्यून की शुरूआत की गई।


टेलीविजन कार्यक्रमों में दिव्‍यांग व्यक्तियों के लिए सुगम्‍यता मानक लागू किए गए। इस वर्ष स्वतंत्रता दिवस से निजी उपग्रह समाचार टेलीविजन चैनलों ने स्वतंत्रता दिवस समारोह पर कार्यक्रम का प्रसारण सांकेतिक भाषा में करके एक महत्वपूर्ण शुरुआत की।


स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर दूरदर्शन द्वारा निर्मित देशभक्ति गीत "वतन" जारी किया गया। गीत नये भारत को समर्पित है। यह "चंद्रयान 2" के सफल प्रक्षेपण के पीछे सरकार के दृढ़ संकल्प और दूरदर्शिता सहित उसकी अनेक अग्रणी पहलों को उजागर करता है। यह गीत हमारे सशस्त्र बलों और देश के शहीदों की बहादुरी और पराक्रम को भी सम्‍मान प्रदान करता है।


 


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक