सिनेमा पर रिसर्च के लिए एक लाख रुपये की स्कालरशिप का एलान

 


जयपुर। गुलाबी नगरी के सिनेप्रेमियों के लिए तो वर्ष 2020 ख़ास होगा ही, सिनेमा स्कॉलर्स के लिए भी यह एक विशेष अवसर होने जा रहा है। जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ट्रस्ट और आर्यन रोज़ फाउण्डेशन की ओर से आयोजित जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल [ जिफ] का आयोजन  17 से 21 जनवरी को आयनॉक्स सिनेमा हॉल [जी.टी. सेन्ट्रल] में  होने जा रहा है। जहां आयनॉक्स सिनेमा हॉल में 69 दुनिया भर से आई 240 फिल्मों का प्रदर्शन होगा, वहीं शहर के क्लार्क्स  आमेर होटल में सिनेमा से जुड़ी विविध चर्चाएं होंगी। फिल्मों के लगातार प्रदर्शन के साथ ही फिल्मकार, निर्माता – निर्दशक और सिनेमा से जुड़े ख़ास लोग सिने जगत की बारीकियों पर बात करेंगे।



यह जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का 12वां संस्करण है। जिफ की ओर से विश्व की सबसे बड़ी और सिक्योर फिल्म लाइब्रेरी बनने जा रही है, जिसके अन्तर्गत जिफ की ओर से इस मर्तबा एक अभिनव प्रयास किया जा रहा है। इस कोशिश का मकसद है - सिनेमा पर आधारित संस्थागत रिसर्च या शोध को बढ़ावा देना। 17 से 21 जनवरी को होने वाली फिल्मों की स्क्रीनिंग में छात्र – छात्राओं को हिस्सा लेना होगा, उन्हें फिल्में देखनी होंगी और सुबह, दोपहर तथा शाम को अपनी उपस्थिति दर्ज करनी होगी।


इस मुहिम के अन्तर्गत जिफ की ओर से रिसर्च के लिए एक लाख रुपये की स्कॉलरशिप दी जाएगी। इस क्रम में एक परीक्षा आयोजित होगी, जिसमें वे ही रिसर्च स्कॉलर्स हिस्सा ले सकेंगे, जिन्होने फेस्टिवल के दौरान फिल्में देखी हों। परीक्षा में टॉप पर रहने वाले 4 छात्रों को जिफ की ओर से स्कॉलरशिप अवॉर्ड होगी।


सभी छात्र जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में निशुल्क हिस्सा ले सकते हैं। स्कॉलरशिप के लिए अधिकतम 100 रजिस्ट्रेशन्स लिए जाएंगे। पहले आओ पहले पाओ के आधार पर स्कॉलर्स को चुना जाएगा। इच्छुक छात्र – छात्राएं रजिस्ट्रेशन की जानकारी MYJIFFINDIA@gmail.com पर अपने नाम, क्लास और कॉलेज के नाम के साथ भेज सकते हैं।


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!