मार्च में होगा पांचवां हरियाणा अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव

 


चंडीगढ़।  पांचवां  हरियाणा अंतरराष्ट्रीय फिल्म  महोत्सव मार्च महीने में आयोजित किया जायेगा।  इस दौरान  80 से अधिक फिल्मों का प्रदर्शन किया जायेगा। अकादमी भवन के सभागार में 'भाषा एवं साहित्य के विकास में सिनेमा का योगदान' विषय पर परिचर्चा के दौरान फिल्म महोत्सव का एलान किया गया।  



फिल्म  महोत्सव मार्च के प्रथम सप्ताह में चंडीगढ़, पंचकूला में आयोजित किया जाएगा जिसमें देश विदेश के कलाकार, फिल्म डायरेक्टर, फिल्म टैक्नीशियन भाग लेंगे। इस महोत्सव में 14 देशों की 19  भाषाओं में कुल 81 फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा जिसमें 15 फीचर फिल्में, 45 शॉर्ट फिल्में, 5 डॉक्यूमेंट्री और 16 म्यूजिक वीडियो प्रदर्शित की जाएंगी। फेस्टिवल के डायरेक्टर धर्मेंद्र डांगी ने बताया कि पिछली बार इस फेस्टिवल के लिए 28 देशों से 23 भाषाओं में कुल 386 फिल्में शामिल की गई थी। 


भाषा एवं साहित्य का सिनेमा में योगदान पर परिचर्चा में मुख्य वक्ता यशपाल शर्मा -  बालीवुड अभिनेता एवं विरेन्द्र सिंह चौहान - उपाध्यक्ष, हरियाणा ग्रन्थ अकादमी के साथ भीम राज गर्ग - पंजाबी फिल्म इतिहासकार, अशोक नादिर - वरिष्ठ साहित्यकार, कंवल बिंदुसार रहे। 


परिचर्चा की शुरुआत में हरियाणा  अंतरराष्ट्रीय  फिल्म समारोह के फेस्टिवल डायरेक्टर धर्मेन्द्र डांगी ने मुख्य अतिथि मशहूर बालीवुड फिल्म अभिनेता यशपाल शर्मा, हरियाणा ग्रन्थ अकादमी के उपाध्यक्ष तथा कार्यक्रम के अध्यक्ष विरेन्द्र सिंह चौहान, ज्यूरी सदस्यों कैलाश आहलूवालिया, रवि चौहान, बलजिंदर कौर,  डॉ मिहिर रंजन पात्र और बृजेश शर्मा का स्वागत किया। उन्होंने विशिष्ट अतिथियों  अशोक नादिर,  ओ पी सिहाग,  कंवल बिन्दुसार, रोशन वर्मा,  भीमराज गर्ग, नकुल देव, अनिल सोनी का भी इस परिचर्चा में भाग लेने पर स्वागत किया।  कार्यक्रम का मंच संचालन अभिनेता चंद्रशेखर पाराशर ने किया। इस परिचर्चा में जाने माने बालीवुड फिल्म अभिनेता यशपाल शर्मा ने अपने विचार रखे।


कार्यक्रम के समापन समारोह के दौरान समन्वय कॉम वेलफेयर पंचकुला तथा माइंड वेदा की ओर  से  कंवल बिन्दुसार ने  हरियाणा में फिल्मों के लिये विशेष योगदान के लिये यशपाल शर्मा को  “हरियाणा फिल्म गौरव सम्मान” तथा  धर्मेन्द्र डांगी  को “हरियाणा फिल्म प्रोत्साहन सम्मान” से सम्मानित किया। 


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक

हम लोग गिद्ध से भी गए गुजरे हैं!