जयपुर में  दो दिवसीय ज्ञानम महोत्सव का आयोजन कल से

 


जयपुर। छोटी काशी कहे जाने वाले जयपुर में 14 दिसंबर से जवाहर कला केंद्र में दो दिवसीय ज्ञानम महोत्सव का आयोजन होने जा रहा है। इस महाकुंभ में राष्ट्रीय विचारक एंव साहित्यकारों का जमघट लगेगा। आयोजन में देशभर से धर्म, साहित्य से जुड़े विद्वान और वरिष्ठ चिंतक देश के ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा करेंगे। ज्ञानम के आयोजक दीपक गोस्वामी ने बताया कि  ज्ञानम के सत्रों में सर्वधर्म समभाव की तहजीब और हिंदुस्तान, कृष्ण भक्ति और सूफीवाद का मिलन, जनसंख्या नियंत्रण बील, नागरिकता संशोधन बिल, हिंदुत्व का उदय भारत के लिए खतरा या उन्नति का मार्ग जैसे राष्ट्र के अहम मुद्दों पर देश भर से आए विचारक अपने विचार वियक्त करेंगे।


 महोत्सव में प्रमुख वक्ता के रूप में पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ; केंद्रीय कृषि मंत्री, पुरुषोत्तम रुपाला; बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष, ज्ञानदेव आहूजा; आईएएस, संजय दीक्षित; मेजर जनरल, अनुज माथुर; नाजिम नकवी; मेजर, सुरेंद्र पूनिया; राणा यशवंत; सामाजिक कार्यकर्ता, जय आहूजा; साध्वी प्रज्ञा भारती; श्रीपाल शक्तावत; विरेश मल्लिक; सरदार रवि रंजन सिंह; गोस्वामी सुशील जी महाराज; सरदार परमजीत सिंह चंडोक; इमाम उमर अहमद इलियासी चीफ काजी आल इंडिया इमाम आर्गेनाइजेशन; शिक्षाविद सुनील शर्मा; योगाचार्य स्वामी अमित देव; साध्वी प्रीति प्रियंवदा  सहित कई प्रखंड विचारक मौजूद रहेंगे। इसी कड़ी में 14 दिसंबर की शाम 6.30 बजे से सूफी भक्ति से सराबोर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया जायेगा और 15 दिसंबर को समापन समारोह में भारतीय परिधान और भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देने के लिये फैशन शो 'वस्त्रम' का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश के फैशन मॉडल समृद्ध भारतीय वेशभूषा का प्रदर्शन करेंगे और आज के युवाओ को अपनी समृद्ध संस्कृति से जोड़ने का सन्देश देने का प्रयास करेंगे।


 


Popular posts from this blog

मौत दबे पाँव आई और लियाक़त अली भट्टी को अपने साथ ले गई !

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

कोरोना की चपेट में आए वरिष्ठ पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ के निधन से मीडियाकर्मियों में हड़कंप