फिल्म शूटिंग की इजाजत के लिए सरकार लागू करेगी सिंगल विंडो स्कीम

पणजी।  भारत में देशी विदेशी फिल्म की शूटिंग के लिए सरकार जल्दी ही सिंगल विंडो स्कीम लागू करेगी। इससे गोवा, अंडमान निकोबार द्वीपसमूह, लेह लद्दाख सहित दूर दराज के इलाकों को फायदा होगा। पहले इसके लिए पंद्रह बीस सरकारी विभागों से अनुमति लेनी पड़ती थी। अब यह सारा काम एक ही जगह राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम के फिल्म फैसिलिटेशन आफिस में हो जाएगा। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस बारे में कल पणजी (गोवा) में भारत के 50 वें अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह में घोषणा की। 


उन्होंने कहा कि भारतीय सिनेमा को अब दुनियाभर में लोकप्रियता मिल रही है। हमें सिनेमा की इस ताकत को बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास करने चाहिए। उन्होंने कहा कि इस बार गोवा फिल्मोत्सव में दृष्टि बाधित दिव्यांग सिनेमा प्रेमियों के लिए कुछ फिल्मों के श्रव्य विवरण (आडियो कमेंटरी) संस्करण प्रर्दशित किए जा रहे हैं जो एक नई पहल है। इससे वे लोग भी सिनेमा का आनंद ले सकते हैं जिनकी आंखों की रोशनी चली गई थी। सिनेमा एक आनंद है और हमारा फर्ज है कि हम इसे दिवयांग लोगों तक ले जाएं। उन्होंने भारतीय फिल्म उद्योग से अपील की कि ज्यादा से ज्यादा फिल्मों के आडियो कमेंट्री संस्करण रिलीज  किए जाएं।


गौरतलब है कि देश में हर साल तीस भाषाओं में करीब दो हजार फिल्में बनती हैं।  नए जमाने में  नौजवान मोबाइल पर फिल्म निर्माण की दिशा में बढ़ रहे हैं। इन हालात में फिल्मों की शूटिंग के लिए बेहतर इंतज़ाम करने की मांग लम्बे समय से की जा रही थी। 



 


Popular posts from this blog

जुनूनी एंकर पत्रकार रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

'बालिका वधु' जैसे धारावाहिकों के डायरेक्टर रामवृक्ष आज सब्जी बेचने को मजबूर

'कम्युनिकेशन टुडे' ने पूरा किया 25 साल का सफ़र, मीडिया शिक्षा की 100 वर्षों की यात्रा पर विशेषांक